Madhu Kaur

Madhu Kaur Lives in Delhi, Delhi, India

Dreamer, Believer

  • Latest Stories

आपके जीवन की गुणवता इस बात और निर्भर करती है कि
आपके दिमाग में किस गुणवता के विचार आते है।

302 Love
15 Share

अगर ज़िंदगी मैं जुदाई ना होती,
तो कभी किसी की याद आई ना होती,
साथ ही गुज़रता हर लम्हा तो शायद,
रिश्तों मैं यह गहराई ना होती...

757 Love
28 Share

"हर एक रिश्ते की एक मर्यादा होती है, एक लकीर होती है, अगर वह पार कर दी तो रिश्ते की अहमियत चली जाती है।"

हर एक रिश्ते की एक मर्यादा होती है, एक लकीर होती है,
अगर वह पार कर दी तो रिश्ते की अहमियत चली जाती है।

हर एक रिश्ते की एक मर्यादा होती है, एक लकीर होती है,
अगर वह पार कर दी तो रिश्ते की अहमियत चली जाती है।

687 Love
4 Share

"कोई ना-मेहरबाँ अब मेहरबाँ है कहाँ है उम्र-ए-रफ़्ता तू कहाँ है"

कोई ना-मेहरबाँ अब मेहरबाँ है
कहाँ है उम्र-ए-रफ़्ता तू कहाँ है

#nojotohindi

850 Love
17 Share

"खड़ा हूँ देर से मैं अर्ज़-ए-मुद्दआ के लिए इधर भी एक नज़र कीजिए ख़ुदा के लिए"

खड़ा हूँ देर से मैं अर्ज़-ए-मुद्दआ के लिए
इधर भी एक नज़र कीजिए ख़ुदा के लिए

#Nojoto

533 Love
4 Share