Lipika Jain

Lipika Jain Lives in Kanpur, Uttar Pradesh, India

Executive Trainer, From 147

  • Latest Stories

वो जो सर झुकाए बैठे हैं,
हमारा दिल चुराए बैठे हैं,
हमने कहा हमारा दिल हमे लौटा दो,
तो बोले हम हाथों में मेहदी लगाए बैठे हैं.

760 Love
26 Share

"जिंदगी में किसी का साथ काफ़ी है, कंधे पर किसी का हाथ काफ़ी है. दूर हो या पास फर्क नहीं पड़ता, सच्चे रिश्तों का बस अहसास ही काफ़ी है।"

जिंदगी में किसी का साथ काफ़ी है,
कंधे पर किसी का हाथ काफ़ी है.
दूर हो या पास फर्क नहीं पड़ता,
सच्चे रिश्तों का बस अहसास ही काफ़ी है।

जिंदगी में किसी का साथ काफ़ी है,
कंधे पर किसी का हाथ काफ़ी है.
दूर हो या पास फर्क नहीं पड़ता,
सच्चे रिश्तों का बस अहसास ही काफ़ी है।

704 Love
9 Share

"पत्थर है तेरे हाथ में या कोई फूल है जब तू क़ुबूल है तिरा सब कुछ क़ुबूल है"

पत्थर है तेरे हाथ में या कोई फूल है
जब तू क़ुबूल है तिरा सब कुछ क़ुबूल है

hindi shayari #nojotohindi

904 Love
52 Share

"ज़िंदगी यूँही बहुत कम है मोहब्बत के लिए रूठ कर वक़्त गँवाने की ज़रूरत क्या है"

ज़िंदगी यूँही बहुत कम है मोहब्बत के लिए
रूठ कर वक़्त गँवाने की ज़रूरत क्या है

love shayari #Life #Love #Time #nojotohindi

822 Love
97 Share

"आता है यहाँ सब को बुलंदी से गिराना वो लोग कहाँ हैं कि जो गिरतों को उठाएँ"

आता है यहाँ सब को बुलंदी से गिराना
वो लोग कहाँ हैं कि जो गिरतों को उठाएँ

#Nojoto

736 Love
36 Share