HASNAIN REZA.(HR)

HASNAIN REZA.(HR)

मैं न शायर हूँ, न मैं कवि हूँ, जो सच लगता है, लिखता वही हूँ।

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"एक तू है, एक चाँद है काश तू चाँद मैं तारा होता, आशिया में घर हमारा होता, दूर नज़रों से तम्हें देखती दूनियाँ, छूने का हक़ सिर्फ हमारा होता। -Md Hasnain Reza #C...@R.... ."

एक तू है, एक चाँद है काश तू चाँद मैं तारा होता,
आशिया में घर हमारा होता,
दूर नज़रों से तम्हें देखती दूनियाँ,
छूने का हक़ सिर्फ हमारा होता।

-Md Hasnain Reza
         #C...@R.... .

#chand pe shayri.
M.H.Ŕ---ļòvé ❤

41 Love

"हसीन सपना "काश" कोई मुझे अपना कहता, अपना कहके कोई गले लगाता, "काश" ये सपना न होकर हकिकत होता। 😥😥😥"

हसीन सपना "काश" कोई मुझे अपना कहता,
अपना कहके कोई गले लगाता,
"काश" ये सपना न होकर हकिकत होता।

😥😥😥

दर्द शायरी
M.H.Ŕ---ļòvé

35 Love

"खुदा की रहमत खुदा की रहमत हमें इस कदर मिला है, न कोई शिकवा है ज़िन्दगी से न कोई गिला है, ज़मीं वालों के लिए आस्माँ का छत खुला है, एक जैसे लोग नहीं है इस दूनियाँं में, कोई अच्छा है तो कोई बुरा है। -Md Hasnain Reza"

खुदा की रहमत खुदा की रहमत हमें इस कदर मिला है,
न कोई शिकवा है ज़िन्दगी से न कोई गिला है,
ज़मीं वालों के लिए आस्माँ का छत खुला है,
एक जैसे लोग नहीं है इस दूनियाँं में,
कोई अच्छा है तो कोई बुरा है।

-Md Hasnain Reza

#खुदा या बख्स दे हमें।
by. M.H.Ŕ---ļòvé

32 Love
1 Share

"सूखे फूल किसी को फूल और किसी को कांटे मिलते हैं, ये दूनियाँ बड़ी ज़ालीम है दोस्तो, यहाँ किसी को गम और किसी को आँसू मिलते हैं।"

सूखे फूल किसी को फूल और किसी को कांटे मिलते हैं,
ये दूनियाँ बड़ी ज़ालीम है दोस्तो,
यहाँ किसी को गम और किसी को आँसू मिलते हैं।

दोखा शायरी
M.H.Ŕ---ļòvé

31 Love
2 Share

"#APJAbdulKalam ये शख्स ऐसे हैं जो सारे जहाँ में मशहूर है, इसकी हर आदतें हमें मंज़ूर है, इसको जन्नत मिलने में कुछ अर्सा दूर है, क्युंकि , हर लोगों की दुआ इसको मिलना जरूर है, Dedicated by.. APJ.Abdul Kalam Azad -Md Hasnain Reza"

#APJAbdulKalam ये शख्स ऐसे हैं जो सारे जहाँ में मशहूर है,
इसकी हर आदतें हमें मंज़ूर है,
इसको जन्नत मिलने में कुछ अर्सा दूर है,
क्युंकि ,
हर लोगों की दुआ इसको मिलना जरूर है,

Dedicated by..
APJ.Abdul Kalam Azad

-Md Hasnain Reza

happy birthday APJ.Abdul Kalam Sir.

M.H.Ŕ---ļòvé

28 Love
2 Share