khubsurat

khubsurat Lives in Bihar, Bihar, India

instra id poetic_coffer "Es kalyug m mai soch m padti traita " fulo ki andaaj kabhi mai kabhi sok krti sarita dwapar yug viyog m mai pr bn gye ab kalyugi mai srota mithila ki maithli hun mai hun prem ki bhasha jb likhti hu sri krishna ko mai bn jati hu mira, rukmani kabhi radha...

  • Latest
  • Popular
  • Video

पंद्रह कपड़े कौन बनवाये कौन सिले चाँद अपने बदन को बादलों से ढक कर सो गया हैं ------ सलोनी कुमारी . ©khubsurat

#विचार  पंद्रह कपड़े कौन बनवाये  कौन सिले 
चाँद अपने बदन को बादलों से ढक कर सो गया हैं 
------ सलोनी कुमारी











.

©khubsurat

पंद्रह कपड़े कौन बनवाये कौन सिले चाँद अपने बदन को बादलों से ढक कर सो गया हैं ------ सलोनी कुमारी . ©khubsurat

10 Love

#KrishnaJanmashtami #कविता #krishna_flute #merekanha #Krishna

कलम रुक जाती हैं अक्सर सादे पन्ने के इंतजार में आज जो ख़बर धुएँ में है वो थीं कभी अखबार में अब इजाज़त दिल की नहीं मिलती बसर मुश्किल हुआ ऐतबार में टूट जाती हैं चीजें बहुत ऐहतियात बरतना पड़ रहा घर- बार में खो गया मैं भी था किसी से मिल कर ऐसे एक बार हमने भी दिल हारा प्यार में चौखट  आखों पर जमी रहती थी हमने वीराने से पल गुज़ारे है गुलशन - गुलज़ार में एक फ़कीर मस्तमौला अमीर बना मैं कुछ नहीं खरीद सका मोहब्बत के बाजर में .... सलोनी कुमारी ©khubsurat

#drowning  कलम रुक जाती हैं अक्सर 
सादे पन्ने के इंतजार में 

आज जो ख़बर धुएँ में है 
वो थीं कभी अखबार में 

अब इजाज़त दिल की नहीं मिलती 
बसर मुश्किल हुआ ऐतबार में 

टूट जाती हैं चीजें बहुत 
ऐहतियात बरतना पड़ रहा घर- बार में 

खो गया मैं भी था किसी से मिल कर 
ऐसे एक बार हमने भी दिल हारा प्यार में 

चौखट  आखों पर जमी रहती थी 
हमने वीराने से पल गुज़ारे है गुलशन - गुलज़ार में 

एक फ़कीर मस्तमौला अमीर बना 
मैं कुछ नहीं खरीद सका मोहब्बत के बाजर में .... 

सलोनी कुमारी

©khubsurat

#drowning

33 Love

इस अँधेरे मे तुम ना होते तो क्या होता ! शायद यहां उजाला होता और आखें थक जाती --- सलोनी कुमारी ©khubsurat

#scared  इस अँधेरे मे तुम ना होते तो क्या होता !
शायद यहां उजाला होता और आखें थक जाती
---   सलोनी कुमारी

©khubsurat

#scared

45 Love

खुशबू उनकी भूल गए अब और फ़ूलों से मिलना होगा नयी पंखुड़ियां गिनना होगा काटों में फंस कर तिड़ना होगा मुझे नये सिरे से खिलना होगा खुशबू उनकी भूल गये अब और फूलों से मिलना होगा सर पे उनके चढ कभी कदमो में उनकी गिरना होगा इश्क विस्क थी पुरानी बातें अब नयी कविताए गढ़ना होगा नए शब्द के नए मालाओं से किसी के सूने गले को भरना होगा खुशबू उनकी भूल गये अब नए फ़ूलों से मिलना होगा ....... ©khubsurat

#ishq  खुशबू उनकी भूल गए 
अब और फ़ूलों से मिलना होगा 
नयी पंखुड़ियां गिनना होगा 
काटों में फंस कर तिड़ना होगा 
मुझे नये सिरे से खिलना होगा 
खुशबू उनकी भूल गये 
अब और फूलों से मिलना होगा 
सर पे उनके चढ कभी 
कदमो में उनकी गिरना होगा 
इश्क विस्क थी पुरानी बातें 
अब नयी कविताए गढ़ना होगा 
नए शब्द के नए मालाओं से 
किसी के सूने गले को भरना होगा 
खुशबू उनकी भूल गये 
अब नए फ़ूलों से मिलना होगा .......

©khubsurat

#ishq

46 Love

#nojotohindi #Pyar #Dard

#Love #nojotohindi #Pyar #Dard

1.0K View

Trending Topic