haquikat

haquikat

"writer" haquikat ✒ 🖋🖋🖋 ✒ 🔥jala daale Khwab mere badha daale dushman 🔪 ab tujhko nahi duniya ko batana hai main kon hoon main 😶.. 👊

https://www.yourquote.in/haquikat

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video

""

"Good Morning quotes in Hindi ख्यालो की ज़मीं हकिकत लगी वो उभरी ना थी इबारत उभरी मिली ..!!! नाज़िल थी शब मे क्या दीवानगी उसपे किताबो पे स्याही की परते मिली ..!!.. महकी थी यूँ तो गज़ल मुहब्बत ही मुहब्बत से पर दो रदीफ़ो मे तेरी शर्ते मिली ..!!!.. मौत की खुमारी ,,जीने का जलाल किरदार मे दोनो ही सूरतें मिली ..!!! हर फ़ूल मे मेहका मिला इश्क़ का जादू कुछ फ़ूलो मे आँसू की बून्दे मिली ..!! जिसमे ज़िक्र था इन्साफ़, वफ़ा, बेवफ़ाई का वो गज़ल नोची खरोंची मिली ..!! बडी शिद्दत से की गयी झूमर की सजावट मे बीचो- बीच चिड़ीया पंँख टूटी मिली ..!!! खोली जो गयी तिजोरी दीवाने की "खुदा "के नाम सैकड़ों चिट्ठी मिली..!!! तलाशी जो गयी आवाज़ राज़ भरी पर्दो के पिछे दीवारे रोती मिली ..!!!... हदे क्या है दीवानगी -ए- हकिकत जहाँ मिली हमे डूबोती मिली...!!!!. ©haquikat"

Good Morning quotes in Hindi ख्यालो की ज़मीं हकिकत लगी 
वो उभरी ना थी इबारत उभरी मिली ..!!!

नाज़िल थी शब मे क्या दीवानगी उसपे 
किताबो पे स्याही की परते मिली ..!!..

महकी थी यूँ तो गज़ल मुहब्बत ही मुहब्बत से 
पर दो रदीफ़ो मे तेरी शर्ते मिली ..!!!..

मौत की खुमारी ,,जीने का जलाल 
किरदार मे दोनो ही सूरतें मिली ..!!!

हर फ़ूल मे मेहका मिला इश्क़ का जादू 
कुछ फ़ूलो मे आँसू की बून्दे मिली ..!!

जिसमे ज़िक्र था इन्साफ़, वफ़ा, बेवफ़ाई का 
वो गज़ल नोची खरोंची मिली ..!!

बडी शिद्दत से की गयी झूमर की सजावट मे 
बीचो- बीच चिड़ीया पंँख टूटी मिली ..!!!

खोली जो गयी तिजोरी दीवाने की 
"खुदा "के नाम सैकड़ों चिट्ठी मिली..!!!

 तलाशी जो गयी आवाज़ राज़ भरी
पर्दो के पिछे दीवारे रोती मिली ..!!!...

हदे क्या है दीवानगी -ए- हकिकत 
जहाँ मिली हमे डूबोती मिली...!!!!.

©haquikat

ख्यालो की ज़मीं हकिकत लगी
वो उभरी ना थी इबारत उभरी मिली ..!!!

नाज़िल थी शब मे क्या दीवानगी उसपे
किताबो पे स्याही की परते मिली ..!!..

महकी थी यूँ तो गज़ल मुहब्बत ही मुहब्बत से
पर दो रदीफ़ो मे तेरी शर्ते मिली ..!!!..

18 Love
1 Share

""

"कुछ बाते अनकही रही बार बार मेरा प्यार भी एकतरफ़ा रहा वो आते रहे सामने हमारे हमारे चेहरे पे शर्म का परदा रहा फूल सामने रहे खिलते मुस्कुराता गुल्दस्ता रहा वो तक़ते रहे हमे कभी इज़्हार ना कहा.. कुछ बाते अनकही रही बार बार मेरा प्यार भी एकतरफ़ा रहा....... ©haquikat"

कुछ बाते अनकही रही बार बार 
मेरा प्यार भी एकतरफ़ा रहा 
वो आते रहे सामने हमारे 
हमारे चेहरे पे शर्म का परदा रहा 
फूल सामने रहे खिलते 
मुस्कुराता गुल्दस्ता रहा 
वो तक़ते रहे हमे 
कभी इज़्हार ना कहा.. 
कुछ बाते अनकही रही बार बार 
मेरा प्यार भी एकतरफ़ा रहा.......

©haquikat

 

17 Love

""

"कभी वो ना मिली कभी हम ना मिले कभी राहे ना मिली कभी मौसम ना मिले ..... कुछ राज़ दफ़्न रहे इधर कुछ बाते उधर दबी रहे कभी कह ना सके कभी सुन ना सके कभी मन ना माना कभी दिल ना खिले ... कभी वो ना मिले कभी हम ना मिले...... ©haquikat"

कभी वो ना मिली कभी हम ना मिले 
कभी राहे ना मिली कभी मौसम ना मिले .....
कुछ राज़  दफ़्न रहे इधर 
कुछ बाते उधर दबी रहे 
कभी कह ना सके 
कभी सुन ना सके 
कभी मन ना माना कभी दिल ना खिले ...
कभी वो ना मिले कभी हम ना मिले......

©haquikat

#my_happiness

13 Love

""

"ये क्या हशर ए इन्सान हो गया .. मेरा मुल्क कब्रिस्तान हो गया .. कीमत थी जिसकी सिक्को से कही ज़्यादा .. अभी अभी इन्सान था अब सामान हो गया ..!! ©haquikat"

ये क्या हशर ए इन्सान हो गया ..
मेरा मुल्क कब्रिस्तान हो गया ..
कीमत थी जिसकी सिक्को से कही ज़्यादा ..
अभी अभी इन्सान था अब सामान हो गया ..!!

©haquikat

#Corona_Lockdown_Rush

#covidindia

16 Love

""

"गुर्बत के मौसम मे सौगातों से नापा गया मुझे बोलना नहीं आता था तब जब मुझे बातो से नापा गया ..!! अपनो की अमीरी मे मैं कहाँ शामिल था ? हकि़कत से दूर, इरादो से नापा गया ..!!! इतनी जलन उनके दिल मे आयी कहाँ से जाने ? मैं सोहबतो से नहीं, मुलाक़ातो से नापा गया ..!! मेरी बर्बाद सी ज़िन्दगी मे झाँको ना यारो मैं आँसुओ से नहीं, वफ़ातो से नापा गया ..!!.. मौत- ए -मुहब्बत देखूँ के देखू प्यार अपनो का ? इन फ़ैसलो मे भी मैं, तकाज़ो से नापा गया ..!!..! मेरी आँखो को बिन पढे़ बन्द हो जाना पडा़ मैं दिल से नहीं ,लिबासो से नापा गया ..!!! तुम तन्हा कहाँ सारे शहर के वादे थे मेरी लकीरी मे मुहब्बत की फ़क़ीरी मे भी ,मै ज़क़ातो से नापा गया ..!! मिरे दिल में क़ामयाब सा व्यापार था सच्चाई का मैं झूठा हो गया ,जब हालातो से नापा गया ..!!! मैं उनसा था तो मिरे शानो पे सर था उनका मैं मुझसा होते ही ,उनके इरादो से नापा गया ..!! वो समझदार थे बहुत शायद ये और बात है मै नादानी के नशे मे ,किये वादों से नापा गया ..!! मुझे नहीं आता था अपने लिये खड़ा होना जब किरदार -ए -जंग में ,क़दम की रफ़्तारो से नापा गया ...!!! जाने कहाँ खाली रह गयी मेरी मुहब्बत की ज़मी अहसासो से नहीं मै चन्द यादो से नापा गया ..!!! यकी ज़ाया हुआ दिल छन से टूटा अपनो की जन्ग मे जब ,हथियारो से नापा गया..!! लेखक -- हकी़कत ©haquikat "

गुर्बत के मौसम मे सौगातों से नापा गया 
मुझे बोलना नहीं आता था तब 
जब मुझे बातो से नापा गया ..!!

अपनो की अमीरी मे मैं कहाँ शामिल था ?
हकि़कत से दूर, इरादो से नापा गया ..!!!

इतनी जलन उनके दिल मे आयी कहाँ से जाने ?
मैं सोहबतो से नहीं, मुलाक़ातो से नापा गया ..!!

मेरी बर्बाद सी ज़िन्दगी मे झाँको ना यारो 
मैं आँसुओ से नहीं, वफ़ातो से नापा गया ..!!..

मौत- ए -मुहब्बत देखूँ के देखू प्यार अपनो का ?
इन फ़ैसलो मे भी मैं, तकाज़ो से नापा गया ..!!..!

मेरी आँखो को बिन पढे़ बन्द हो जाना पडा़ 
मैं दिल से नहीं ,लिबासो से नापा गया ..!!!

तुम तन्हा कहाँ सारे शहर के वादे थे मेरी लकीरी मे 
मुहब्बत की फ़क़ीरी मे भी ,मै ज़क़ातो से नापा गया ..!!

मिरे दिल में क़ामयाब सा व्यापार था सच्चाई का 
मैं झूठा हो गया ,जब हालातो से नापा गया ..!!!

मैं उनसा था तो मिरे शानो पे सर था उनका 
मैं मुझसा होते ही ,उनके इरादो से नापा गया ..!!

वो समझदार थे बहुत शायद ये और बात है 
मै नादानी के नशे मे ,किये वादों से नापा गया ..!!

मुझे नहीं आता था अपने लिये खड़ा होना जब 
किरदार -ए -जंग में ,क़दम की रफ़्तारो से नापा गया ...!!!

जाने कहाँ खाली रह गयी मेरी मुहब्बत की ज़मी 
अहसासो से नहीं मै चन्द यादो से नापा गया ..!!!

यकी ज़ाया हुआ दिल छन से टूटा 
अपनो की जन्ग मे जब ,हथियारो से नापा गया..!!

लेखक -- हकी़कत

©haquikat

my measurements their tools
my life theie rules...
#mycharacter
#ApnoKaPyaar
#zindagikapal
#mereshauk
गुर्बत के मौसम मे सौगातों से नापा गया
मुझे बोलना नहीं आता था तब

17 Love