G Misha

G Misha

  • Latest Stories

"हमसफ़र ख्वाहिश तो थी तूझे तेरे किस्मत से छीन कर अपनी किस्मत बनाने की -2 पर हुआ कुछ यू पूरी हुई तमन्ना तुम मिले पर बिछङ भी गये हमसफर बनाने का ख्वाब दिखाकर साथ छोड़ गये बात तो थी की चाॅद की शैर कराओगे लेकिन जमी पे रहने के लायक नहीं छोड़ गये पलकों पर बिठाकर आॅखे फेर लिए बहुत दर्द हुआ क्योंकि दिल लगाकर दिल ही तोड़ गये"

हमसफ़र ख्वाहिश तो थी तूझे तेरे किस्मत से छीन कर अपनी किस्मत बनाने की -2
पर हुआ कुछ यू 
पूरी हुई तमन्ना 
तुम मिले पर बिछङ भी गये 
हमसफर बनाने का ख्वाब दिखाकर 
साथ छोड़ गये 
बात तो थी की चाॅद की शैर कराओगे 
लेकिन जमी पे रहने के लायक नहीं छोड़ गये 
पलकों पर बिठाकर आॅखे फेर लिए 
बहुत दर्द हुआ 
क्योंकि दिल लगाकर दिल ही तोड़ गये

हमसफर

5 Love

"जिन्दगी में वही होता है जो मनजुरे खुदा होता है तभी तो लाख कोशिश की अपना बनाने की इस दिल ने तुम्हे फिर भी अलग कर ही दिया किस्मत ने इस दिल से तुम्हे"

जिन्दगी में वही होता है 
जो मनजुरे खुदा होता है 
तभी तो लाख कोशिश की अपना बनाने की इस दिल ने तुम्हे 
फिर भी अलग कर ही दिया किस्मत ने इस दिल से तुम्हे

 

6 Love

"सुकुमार से बालकों को आपने A,B,C,D पढना सिखाया कभी डाट से रुलाया तो कभी प्यार कर हसना सिखाया एक अच्छे मार्गदर्शक बन सही राह पर चलना सिखाया अनमोल ज्ञान तो दिया ही साथ ही जिन्दगी का पाठ भी पढाया मान -अपमान का भेद बताकर अपना अस्तित्व कायम करना सिखाया भाग्य -विधाता से पहले हम लेते आप का नाम क्योंकि आप ही ने हमें विधाता का मतलब बताया"

सुकुमार से बालकों को आपने 
A,B,C,D पढना सिखाया 
कभी डाट से रुलाया 
तो कभी प्यार कर हसना सिखाया 
एक अच्छे मार्गदर्शक बन 
सही राह पर चलना सिखाया 
अनमोल ज्ञान तो दिया ही 
साथ ही जिन्दगी का पाठ भी पढाया 
मान -अपमान का भेद बताकर 
अपना अस्तित्व कायम करना सिखाया 
भाग्य -विधाता से पहले 
हम लेते आप  का नाम 
क्योंकि आप ही ने हमें 
विधाता का मतलब बताया

Happy Teachers' Day

6 Love

"जाने किस राह में आ गयी हूं बीच राह में भटक सी गयी हूं अब न राही दिखे न ही मंजिल ऐ मेरे खुदा इस नचिज पर जरा रहम तो कर मेरे जीवन का मार्ग दर्शन तो कर पछतावा हो रहा उस दिन के लिए जब मैंने खायी थी कसम तूझे पाने के लिए क्या कमी रह गई थी मुझमें यार तूझे ही तो माना था अपना सारा संसार जी चाहता है कुछ कर जाऊं या यू कहें कि मर जाऊं ऐ मेरे खुदा इस नचिज पर जरा रहम तो कर मेरे जीवन का मार्ग दर्शन तो कर अपनो को पराया किया तूझे अपना बनाने के लिए हर नामुमकिन को मुमकिन किया इस सपने को सच करने के लिए अब जिन्दगी में कोई ख्वाहिश नहीं तेरे बिना जीने की कोई चाहत नहीं नींद तो बस एक बहाना है अब तो हमें पलकें कभी नहीं खोलना है रोक के क्या करू अब इन सासों को ? आ चुकी है घड़ी इनके रूक जाने की कुछ भी कर लो अब तो इन्हे मिट्टी में मिल जाना ही है"

जाने किस राह में आ गयी हूं
बीच राह में भटक सी  गयी हूं
अब न राही दिखे न ही मंजिल 
ऐ मेरे खुदा इस नचिज पर जरा रहम तो कर
मेरे जीवन का मार्ग दर्शन तो कर 
पछतावा हो रहा उस दिन के लिए 
जब मैंने खायी थी कसम तूझे पाने के लिए 
क्या कमी रह गई थी मुझमें यार 
तूझे ही तो माना था अपना सारा संसार 
जी चाहता है कुछ कर जाऊं
या यू कहें कि मर जाऊं  
ऐ मेरे खुदा इस नचिज पर जरा रहम तो कर 
मेरे जीवन का मार्ग दर्शन तो कर 
अपनो को पराया किया तूझे अपना बनाने के लिए 
हर नामुमकिन को मुमकिन किया इस सपने को सच करने के लिए 
अब  जिन्दगी में  कोई ख्वाहिश नहीं 
तेरे बिना  जीने की कोई चाहत नहीं 
नींद तो बस  एक बहाना है 
अब तो हमें  पलकें कभी नहीं खोलना है 
रोक के क्या करू अब इन सासों को ?
आ चुकी है घड़ी इनके रूक जाने की 
कुछ भी कर लो अब तो इन्हे मिट्टी में मिल जाना ही है

राहें

5 Love

"दर्दे दास्तान अब बयां न होता बयां हो भी जाये तो कोई समझ न पाता बस अब रोने भर की रह गई है जिन्दगी क्योंकि अब यह अकेलापन मुझसे सहा नही जाता"

दर्दे दास्तान अब बयां न होता 
बयां हो भी जाये तो कोई समझ न पाता 
बस अब रोने भर की रह गई है जिन्दगी 
क्योंकि अब यह अकेलापन मुझसे सहा नही जाता

 

8 Love