shweta singh

shweta singh

मै कुछ भी नहीं हूं, मुझे मत जानो। मेरे बारे में क्या करोगे जानकर, जब मै खुद को ना पहचान पाई।😁

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video

#सब्र #जिंदगी #Nojotovoice #nojotovideo #nojotonews #poem#Hindi #tourdelhi #nojoto

66 Love
374 Views
5 Share

""

"वक़्त बे वक़्त तुझे याद करते हैं वक़्त बेवक्त तुझे याद करते हैं, लगता है जैसे तेरी ही किताब पढ़ते हैं, याद रखना चाहते हैं तुझे, दिल में तेरी ही बात करते हैं किसी और का ना हो जाना , क्यूंकि खुदा से तेरी ही फरियाद करते है।"

वक़्त बे वक़्त तुझे याद करते हैं  वक़्त बेवक्त तुझे याद करते हैं,
लगता है जैसे तेरी ही किताब पढ़ते हैं,
याद रखना चाहते हैं तुझे,
  दिल में तेरी ही बात करते हैं
किसी और का ना हो जाना ,
 क्यूंकि खुदा से तेरी ही फरियाद करते है।

#Nojotovoice #nojotovideo #nojotonews #nojoto #tourdelhi #yad #HindiPoem #Poetry #kitab

65 Love
3 Share

""

"ना ज़रूरत अब मुझे किसी चीज़ की ना चाह किसी सोने चांदी की देखा था ख़्वाब कई अब बस सब ओझल से होने लगे दर्द तो होता ही है मेरे अंदर किसी कोने में दिन यूहीं बीतते चले जाते है आंसू रोक से भी ना रुकते बहुत कोशिश की मैने खुद को संभालने को छोटे छोटे ख्वाब यूहीं टूटते चले गए जो ना मांगा खुदा से वो ही मिलते चले गए लेकिन शुक्रगुजार भी हूं उनकी की जीने को नई वज़ह देते चले गए।"

ना ज़रूरत अब मुझे किसी चीज़ की 

ना चाह किसी सोने चांदी की

देखा था ख़्वाब कई

अब बस सब ओझल से होने लगे

दर्द तो होता ही है मेरे अंदर किसी कोने में

दिन यूहीं बीतते चले जाते है

आंसू रोक से भी ना रुकते

बहुत कोशिश की मैने खुद को संभालने को

छोटे छोटे ख्वाब यूहीं टूटते चले गए 

जो ना मांगा खुदा से वो ही मिलते चले गए

लेकिन शुक्रगुजार भी हूं उनकी

की जीने को नई वज़ह देते चले गए।

#जरूरत #Nojoto #Nojotovoice #nojotovideo #Hindi #poem

60 Love
1 Share

#tourdelhi #nojotonews #nojotovideo #Nojotovoice #innocent #Hindi #poem #Bekhayali

56 Love
282 Views
1 Share

""

"मेरे जीवन का सबसे खुबसूरत पल वो था जब मैंने अपनी पहली आमदनी को मा के हाथों में सौंपा था, और उनके आंसू में खुशी की लहर थी। छोटी सी थी पर मन में बड़ों के जैसे खयाल होते थे। देखा था मैने अपनी मा को वो सुई धागे से अपनी आंखें पिरोते हुए, देखा था मैने उन्हें टूटे फूटे घर को जोड़ते हुए। हां ये भी देखा बचे खुचे चीज़ों से वो खाना बनाना और प्यार से खिलाना। खुद दो दिन ना खाकर कहती थी मेरा तो पेट ही भर गया है। और हर एक निवाले को १ महीने जोड़ते भी देखा था। मा के बारे में जितना लिखो उतना ही कम है। क्यूंकि एक मा शब्द ही सबसे खूबसरत पल है।"

मेरे जीवन का सबसे खुबसूरत पल वो था जब मैंने अपनी पहली आमदनी को मा के हाथों में सौंपा था, और उनके आंसू में खुशी की लहर थी। छोटी सी थी पर मन में बड़ों के जैसे खयाल होते थे। देखा था मैने अपनी मा को वो सुई धागे से अपनी आंखें पिरोते हुए,
देखा था मैने उन्हें टूटे फूटे घर को जोड़ते हुए। हां ये भी देखा बचे खुचे चीज़ों से वो खाना बनाना और प्यार से खिलाना। खुद दो दिन ना खाकर कहती थी मेरा तो पेट ही भर गया है। और हर एक निवाले को १ महीने जोड़ते भी देखा था। मा के बारे में जितना लिखो उतना ही कम है। क्यूंकि एक मा शब्द ही सबसे खूबसरत पल है।

#सबसेखुबसूरतपल #मा #Nojotovoice #nojotovideo #nojotonews #HindiPoem #bestmoment

46 Love
1 Share