Pranshu Dubey

Pranshu Dubey Lives in Delhi, Delhi, India

मेरे अल्फाज ही बहुत है मुझे बयां करने के लिए

  • Popular Stories
  • Latest Stories

 

40 Love
1 Share

"बड़ी रौनक होगी आज भगवान के दरबार में एक फरिश्ता जो पहुंचा है जमीं से आसमान में"

बड़ी रौनक होगी आज भगवान के दरबार में 
एक फरिश्ता जो पहुंचा है जमीं से आसमान में

Vo Atal the Ab Aramr h

11 Love
1 Share

"फिर उस धूप से गुज़रा मैं, मोम था वो और पिघला मैं. ख़ुशबू उसके साथ रही , लम्हा-लम्हा बिखरा मैं. उसे मनाने की ख़ातिर, ख़ुद से कितना झगड़ा मैं. उसके किनारे पर कायी, जिनपे अक्सर फिसला मैं. उसने कहा था मिलेगा वो, ऐतबार कर बिछड़ा मैं. एक हवा का झोंका था, जिसको क्या-क्या समझा मैं. आंधी को उसने पाला, अपनी जड़ से उखडा मैं."

फिर उस धूप से गुज़रा मैं,
मोम था वो और पिघला मैं.
ख़ुशबू उसके साथ रही ,
लम्हा-लम्हा बिखरा मैं.
उसे मनाने की ख़ातिर,
ख़ुद से कितना झगड़ा मैं.
उसके किनारे पर कायी,
जिनपे अक्सर फिसला मैं.
उसने कहा था मिलेगा वो,
ऐतबार कर बिछड़ा मैं.
एक हवा का झोंका था,
जिसको क्या-क्या समझा मैं.
आंधी को उसने पाला,
अपनी जड़ से उखडा मैं.

@Nojoto @Nojoto Hindi @Anushka Verma @Roqaiya Bashri(Rumi)

8 Love
1 Share

चलो कुछ देर सितारों से बातचीत कर लें
अपने खोये हुऐ प्यार की तफ़्तीश कर लें
जिसे देख न पाये वह मिलेगी कैसे
दिल की तसल्ली को चलो कोशिश कर लें

8 Love
2 Share

"वो दर्द था वो दर्द हूँ वो दर्द रह गया हूँ मैं बेदर्द कोई कर दे वो रूह छोड़ आया हूँ मैं"

वो दर्द था वो दर्द हूँ वो दर्द रह गया हूँ मैं
बेदर्द कोई कर दे वो रूह छोड़ आया हूँ मैं

@Nojoto Hindi @Shweta Singh @Anushka Verma @Supriya Tewari

8 Love
1 Share