Vallika Poet

Vallika Poet Lives in Chandigarh, Punjab, India

I don’t like chatting, here to express

  • Latest Stories

"रिश्तों को बस इस तरह से बचा लिया करो, कभी मान जाया करो तो कभी मना लिया करो।"

रिश्तों को बस इस तरह से बचा लिया करो,
कभी मान जाया करो तो कभी मना लिया करो।

#रिश्तों

509 Love
3 Share

"मिट्टी का मटका और परिवार की कीमत सिर्फ बनाने वाले को पता होती है तोड़ने वाले को नहीं।"

मिट्टी का मटका और परिवार की कीमत
सिर्फ बनाने वाले को पता होती है तोड़ने वाले को नहीं।

मिट्टी का मटका और परिवार की कीमत
सिर्फ बनाने वाले को पता होती है तोड़ने वाले को नहीं।

378 Love
2 Share

"दिन नहीं रात नहीं सुब्ह नहीं शाम नहीं रह गई एक नहीं हाँ का कहीं नाम नहीं Good Night"

दिन नहीं रात नहीं सुब्ह नहीं शाम नहीं
रह गई एक नहीं हाँ का कहीं नाम नहीं

Good Night

good night #Goodnight #Good #Night #nojotohindi

329 Love

"ज़िंदगी के उदास लम्हों में बेवफ़ा दोस्त याद आते हैं"

ज़िंदगी के उदास लम्हों में
बेवफ़ा दोस्त याद आते हैं

sad shayari #hindinojoto #Life #SAD #friends

310 Love
1 Share

 

302 Love
2 Share