swati soni

swati soni Lives in Bikaner, Rajasthan, India

i am poetry writer @swatikiqalumse Singer ,Teacher

https://m.youtube.com/channel/UCuZTkEVxAkGF1QdFB26nDBg

  • Latest
  • Popular
  • Video

स्त्री का प्रथम प्रेम पुरुष नहीं, दर्पण है हाँ वही जिसमें झलकता वास्तविक छवि का अनूठा और मोहकता युक्त समर्पण है यह सौंदर्य केवल बाहरी नहीं अंतरंग छवि युक्त सार है ये श्रृंगार उसकी भावना को जीवंत करता वास्तविक निखार का साज़ है| #स्वातिकीकलमसे ✍️✍️ ©swati soni

#स्वातिकीकलमसे #swatikiqalumse #diary  स्त्री का प्रथम प्रेम पुरुष नहीं, दर्पण है
हाँ वही जिसमें झलकता वास्तविक छवि का
अनूठा और मोहकता युक्त समर्पण है
यह सौंदर्य केवल बाहरी नहीं
अंतरंग छवि युक्त सार है
ये श्रृंगार उसकी भावना को जीवंत करता
वास्तविक निखार का साज़ है|
#स्वातिकीकलमसे ✍️✍️

©swati soni

#swatikiqalumse poetry #diary

2 Love

Umeedon pe kayam hai apna jahaan thode se samjhdar or thode hain naadan kyun hona hai phir itana parehsaan kadamon tale chodte chalo bas nishaan hasil hojayegi manzilon ki dastan . #Swatikiqalumse ✍🏻✍🏻 ©swati soni

#motivacionpoetry #swatikiqalumse #Seating  Umeedon pe kayam hai apna jahaan 
thode se samjhdar or thode hain naadan
kyun hona hai phir itana parehsaan 
kadamon tale chodte chalo bas nishaan
hasil hojayegi manzilon ki dastan .
#Swatikiqalumse ✍🏻✍🏻

©swati soni

*क्रोध सोमवार को आये,* *तो कहना कि सप्ताह की शुरुआत है* *आज नहीं करूँगा।* *मंगलवार को आये,* *तो बोलना कि* *मंगल में अमंगल क्यों करूँ ?* *बुध को आये,* *तो कहना कि बुध तो शुद्ध है* *इसे अशुद्ध क्यों करुँ?*💚💚💚💚💚💚💚💚 *गुरुवार को आये,* *तो बोलना आज तो गुरु का दिन है,* *मन में शान्ति रखना है।* 🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴 *शुक्रवार को आये,* *तो कहना कि शुक्र को तो* *शुक्रिया अदा करना है भगवान का।* 😊😊😊😊😊😊😊 *शनिवार को आये,* *तो सोचना कि शनि के दिन घर में* *शनिचर क्यों आयें?* *और रविवार को आये,* *तो कहना- आज तो छुट्टी का दिन है।* *खुश रहिये, मुस्कुराते रहिये और* *हाँ, कभी क्रोध न कीजिये|* ©swati soni

#poems  *क्रोध सोमवार को आये,* 
 *तो कहना कि सप्ताह की शुरुआत है*
           *आज नहीं करूँगा।*

        *मंगलवार को आये,* 
             *तो बोलना कि* 
     *मंगल में अमंगल क्यों करूँ ?*

             *बुध को आये,* 
     *तो कहना कि बुध तो शुद्ध है* 
          *इसे अशुद्ध क्यों करुँ?*💚💚💚💚💚💚💚💚

          *गुरुवार को आये,*
*तो बोलना आज तो गुरु का दिन है,*
         *मन में शान्ति रखना है।*
🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴
          *शुक्रवार को आये,* 
        *तो कहना कि शुक्र को तो* 
 *शुक्रिया अदा करना है भगवान का।*
😊😊😊😊😊😊😊
          *शनिवार को आये,* 
*तो सोचना कि शनि के दिन घर में*
            *शनिचर क्यों आयें?*

      *और रविवार को आये,* 
*तो कहना- आज तो छुट्टी का दिन है।*

*खुश रहिये, मुस्कुराते रहिये और*
     *हाँ, कभी क्रोध न कीजिये|*

©swati soni

#poems

13 Love

अविस्मरणीय कहानी लिखती है हर शख्स की जुबानी लिखती है वह कलम ही तो है साहेब जो जिंदगी की रवानी लिखती है # स्वाति की कलम से ✍️ ©swati soni

 अविस्मरणीय कहानी लिखती है
 हर शख्स की जुबानी लिखती है
 वह कलम ही तो है साहेब
 जो जिंदगी की रवानी लिखती है
# स्वाति की कलम से ✍️

©swati soni

# स्वाति की कलम से ✍️

12 Love

suno kya phir vahi pal lauta sakoge nindein zara ruswain lgti hai humko to kya khushi ke lamhe la sakoge #swatikiqalumse ©swati soni

#swatikiqalumse #sleepsayri #Stars  suno kya phir vahi pal lauta sakoge 
nindein zara ruswain lgti hai  humko 
to kya khushi ke lamhe la sakoge 
#swatikiqalumse

©swati soni

Gharon mein Ronak ki aadharshila hai aangan , mahaz ise konkrit or marbal ki Bani vastu na janna koi, her neev ki imarat ki Shaan hota hai aangan ,. her Sanskriti or Pooja tyohar , aangan mei hokar hi jati hai Sanwar , nayi naveli Vadhu ke aagaman se , khushnuma ban jaata hai aangan, her rasham rivaz ka aagaz aate hi , Harshit or saz jata hai kaise aangan, khin bhi chahe sunkun na paae koi , gr ghar ke aangan mei sbse alag hi sukun or thandi chanv hai , kitna manoram hota hai vo parivesh, Jha Naseeb hota hai aangan , Hindu Sanskriti ka anutha prichayak Banta hai , bitiya Rani ke Vivah ka prinayautsav ,saat pheron ka Mangal hota hai , her ghar mein aangan , chahe mitti ka ho ya aalisan , bhut hi lubhata hai apna aangan .. # swatikqalumse ...... ©swati soni

#swatikiqalumse #Angan  Gharon mein Ronak ki aadharshila hai aangan ,
mahaz ise konkrit or marbal ki Bani vastu na janna koi,
her neev ki imarat ki Shaan hota hai aangan ,.
her Sanskriti or Pooja tyohar ,
aangan mei hokar hi jati hai Sanwar ,
nayi naveli Vadhu ke aagaman se ,
khushnuma ban jaata hai aangan,
her rasham rivaz ka aagaz aate hi ,
Harshit or saz jata hai kaise aangan,
khin bhi chahe sunkun na paae koi ,
gr ghar ke aangan mei sbse alag hi sukun or thandi chanv hai ,
kitna manoram hota hai vo parivesh,
Jha Naseeb hota hai aangan ,
Hindu Sanskriti ka anutha prichayak Banta hai ,
bitiya Rani ke Vivah ka prinayautsav ,saat pheron ka Mangal hota hai ,
her ghar mein aangan ,
chahe mitti ka ho ya aalisan ,
bhut hi lubhata hai apna aangan ..
# swatikqalumse ......

©swati soni
Trending Topic