Darpana Singh

Darpana Singh Lives in Guwahati, Assam, India

2 Premi

  • Popular Stories
  • Latest Stories

 

1157 Love
79 Share

"मालूम थीं मुझे तिरी मजबूरियाँ मगर तेरे बग़ैर नींद न आई तमाम रात"

मालूम थीं मुझे तिरी मजबूरियाँ मगर
तेरे बग़ैर नींद न आई तमाम रात

मालूम थीं मुझे तिरी मजबूरियाँ मगर
तेरे बग़ैर नींद न आई तमाम रात

860 Love
61 Share

रिश्तों की यह दुनिया है निराली,
सब रिश्तों से प्यारी है दोस्ती तुम्हारी,
मंज़ूर है आँसू भी आखो में हमारी,
अगर आजाये मुस्कान होंठ पे तुम्हारी..!

583 Love
13 Share

"जब आपकी गलती हो तो गलती मानिये, इससे रिश्ते जल्दी नहीं टूटेंगे।"

जब आपकी गलती हो तो गलती मानिये, इससे रिश्ते जल्दी नहीं टूटेंगे।

जब आपकी गलती हो तो गलती मानिये, इससे रिश्ते जल्दी नहीं टूटेंगे।

554 Love
1 Share

"ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं और ना पास रहने से जुड़ जाते हैं। यह तो अहसास के पक्के धागे हैं, जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं।"

ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं और
 ना पास रहने से जुड़ जाते हैं।
यह तो अहसास के पक्के धागे हैं, 
जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं।

ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं और ना पास रहने से जुड़ जाते हैं।
यह तो अहसास के पक्के धागे हैं, जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं।

471 Love
4 Share