Shriprakash Kashyap

Shriprakash Kashyap Lives in Lucknow, Uttar Pradesh, India

Writer/Engineer/Poet instagram id: @alfaaz_e_kashyap follow me for follow back...🙏🤗😍🇮🇳 अल्फ़ाज़ ऐसे जो दिल को छू जाए!❣️ Whatsapp: 8802349427 @kashyap_shriprakash

https://youtu.be/NFaVJTNen9Y

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video

""

"'शिक्षक' गज़ल के उन अल्फाज़ो के मानिंद होता हैं, जो खुद जटिल होकर भी शायरी को मलाहत से भर देता हैं।। ig@alfaaz_e_kashyap -(श्रीप्रकाश कश्यप)"

'शिक्षक' गज़ल के उन अल्फाज़ो के मानिंद होता हैं,
जो खुद जटिल होकर भी शायरी को मलाहत से भर देता हैं।।

ig@alfaaz_e_kashyap
-(श्रीप्रकाश कश्यप)

#teachersday2020

58 Love
1 Share

""

"कभी सोचा था ऐसे भी दिन आएंगे, घरों मे कैद होकर आज़ादी मनाएंगे!! 🇮🇳🇮🇳🇮🇳"

कभी सोचा था ऐसे भी दिन आएंगे,
घरों मे कैद होकर आज़ादी मनाएंगे!!
🇮🇳🇮🇳🇮🇳

Quote of the day🇮🇳🙏🙏
#independenceday2020

37 Love

#myvouce Read full caption👇
मेरा यकीन करो कोई किसी का नही हैं...!!
चाहे हो कांग्रेस पार्टी चाहे वो बीजेपी हो...!
चाहे हो राहुल गांधी चाहे वो मोदी हो...!
कौन पार्टी कौन नेता, सबकी ईमानदारी देखी हैं...!
नौकरी के लिए भटकते युवाओं की बेरोजगारी देखी हैं...!
मेरा यक़ीन करो कोई किसी का नही हैं...!

36 Love
289 Views

""सपना और हक़ीकत" सपने कुछ और कहते है, और हक़ीकत कुछ और करने को विवश कर देती हैं। दरअसल सपने हम सुनहरे भविष्य का देखते हैं, और हकीकत ये है कि हमे वर्तमान भी सुख वाला चाहिए।। -@alfaaz_e_kashyap"

"सपना और हक़ीकत"
 सपने कुछ और कहते है,
और हक़ीकत कुछ और करने को विवश कर देती हैं।
दरअसल सपने हम सुनहरे भविष्य का देखते हैं,
और हकीकत ये है कि हमे वर्तमान भी सुख वाला चाहिए।। -@alfaaz_e_kashyap

सपना और हक़ीकत
#Dream
#Reality
#inspirational

35 Love
163 Views

"आपकी महफ़िल में कुछ दिनों से रोज़, कुछ न कुछ सुनाये जा रहा हूँ, दर्द चाहे कितना भी हो, बस मुस्कुराये जा रहा हूँ।। आपकी महफ़िल में कुछ दिनों से रोज़, कुछ न कुछ सुनाये जा रहा हूँ। दर्द चाहें कितना भी हो, बस मुस्कुराये जा रहा हूँ।। -@alfaaz_e_kashyap"

आपकी महफ़िल में कुछ दिनों से रोज़,
          कुछ न कुछ सुनाये जा रहा हूँ,
               दर्द चाहे कितना भी हो,
                 बस मुस्कुराये जा रहा हूँ।। आपकी महफ़िल में कुछ दिनों से रोज़, कुछ न कुछ सुनाये जा रहा हूँ।
दर्द चाहें कितना भी हो,
 बस मुस्कुराये जा रहा हूँ।। -@alfaaz_e_kashyap

सुनियेगा🤗
आपकी महफ़िल में...!!
#shayri
#tereliye

34 Love
176 Views