Balraj Kumar

Balraj Kumar Lives in Sultanpur, Uttar Pradesh, India

Dost kehte hain ki acha likhta hu, to mene bhi koshish kar li

  • Latest Stories

जुड़ गए तो शेर भी घबराएगा
टूट गए तो गीदड़ भी साथ आएगा।

68 Love
1 Share

अगर आप बोलेंगे तो जानी हुई बातें ही दोहराएंगे
पर सुनने पर कुछ नया सीखेंगे।

52 Love

मेरी किसमत के हीरों का तुम इक ताज बन जाओ,
कल की बात छोडो तुम मेरा आज बन जाओ,
मै तो रोज करता हू मोहब्बत डूब कर तुम से,
मेरी इक बात मानो तुम मेरे हमराज़ बन जाओ..

192 Love
1 Share

"“स्कूलो” में लिखा होता है, “असूल” तोडना मना है ! बागों में लिखा होता है, “फूल” तोडना मना है ! “खेलों” में लिखा होता है, “रूल” तोडना मना है ! ….काश … रिश्ते, परिवार, दोस्ती में भी यह लिखा होता कि “साथ” छोङना मना है”"

“स्कूलो” में लिखा होता है, “असूल” तोडना मना है !
बागों में लिखा होता है, “फूल” तोडना मना है !

“खेलों” में लिखा होता है, “रूल” तोडना मना है !

….काश …

रिश्ते, परिवार, दोस्ती में भी यह लिखा होता कि

“साथ” छोङना मना है”

“स्कूलो” में लिखा होता है, “असूल” तोडना मना है !
बागों में लिखा होता है, “फूल” तोडना मना है !

“खेलों” में लिखा होता है, “रूल” तोडना मना है !

….काश …

रिश्ते, परिवार, दोस्ती में भी यह लिखा होता कि

“साथ” छोङना मना है”

183 Love

"ज़माने भर को मुबारक ख़ुशी का आलम हो हमारे वास्ते ऐ दोस्त तुम कहाँ कम हो"

ज़माने भर को मुबारक ख़ुशी का आलम हो
हमारे वास्ते ऐ दोस्त तुम कहाँ कम हो

happy shayari #nojotohindi #Happy

162 Love