Harshita Dawar

Harshita Dawar

🏆 published author,🏆straightforward forward 🤟 blogger🤟 📙till date 5 E-Books Published on Amazon Kindle name जज़्बात ए हर्षिता📙🏆 फेरक कविताएं (vol 1to 3) और हर्षिता का शायराना आगाज़ (vol 1&2) 13yrs professional exp 🤟proudmum🤟sheroes community #Jazzbaat dedicated admin 🤟 Inspirational award winning life ,✍️ अदखुली किताब के पन्नों को क्यों पलटोगें। आस्तिव को तराशें मिसाल क्यूं ना बनोगीं। ठेस ना पहुंचना मेरी गरिमा को।फना ना हो जाना।

  • Popular Stories
  • Latest Stories

#HappyKid #Nojoto#Memories #Heart #Life

87 Love
9441 Views
5 Share

"प्यार और फ़रेब Written by Harshita ✍️✍️ #Jazzbaat तुमने कहा था, साथ चलते फिर हाथ थामें कसमें खाते, फिर कुछ मोती तह से निकाले, तुमने मेरे लिए हार बनाएं, कहां गए तुम,कहा गए पल, तुम कहते थे आदत हो तुम , मैने कहा आदत नहीं ज़रूरत हो तुम, फिर आदत कब बदल गई। सूरत सीरत ने रंग दिखा दिए। नय रंगो में खोकर पुरानी यादों को भुला दिया। नई सुबह ने सबकुछ बता दिया। आग बुझाते अपने हाथ जला लिए थे मैंने। रिश्तों के कड़वे घुट छिपी कहानियों के सिलसिले लिख डाले थे मैंने। किस्तों में रिश्ते बिकते नज़र आए। ऐसे गुज़रा वक़्त जो खुद की पहचान करवाएं।"

प्यार और फ़रेब Written by Harshita ✍️✍️
#Jazzbaat
तुमने कहा था,
साथ चलते फिर हाथ थामें कसमें खाते,
फिर कुछ मोती तह से निकाले,
तुमने मेरे लिए हार बनाएं, 
कहां गए तुम,कहा गए पल,
तुम कहते थे आदत हो तुम ,
मैने कहा आदत नहीं ज़रूरत हो तुम,
फिर आदत कब बदल गई।
सूरत सीरत ने रंग दिखा दिए। 
नय रंगो में खोकर पुरानी यादों को भुला दिया। 
नई सुबह ने सबकुछ बता दिया।
आग बुझाते अपने हाथ जला लिए थे मैंने।
रिश्तों के कड़वे घुट छिपी कहानियों के सिलसिले
लिख डाले थे मैंने।
किस्तों में रिश्ते बिकते नज़र आए।
ऐसे गुज़रा वक़्त जो खुद की पहचान करवाएं।

#प्यार_और_फ़रेब
#nojoto#deepthougts #feelings
Written by Harshita ✍️✍️
#jazzbaat
तुमने कहा था,
साथ चलते फिर हाथ थामें कसमें खाते,
फिर कुछ मोती तह से निकाले,
तुमने मेरे लिए हार बनाएं,

30 Love

"प्यार और फ़रेब Written by Harshita ✍️✍️ #Jazzbaat इश्क़ आशियाना नहीं एहसास ढूंढता है। लगाव नहीं मोहब्बत के जज़्बात ढूंढ़ता है। सही गलत की पहचान ढूंढ़ता है। दिलों में छिपी कहानियां ढूंढ़ता है। हाथों में छिपी वो लकीरें ढूंढता है। आंखों में छिपे सपने ढूंढता है। दिलों में अधूरी कहानी मिल जाएं तो। इत्र की मनमोहन महकती मुस्कान ढूंढ़ता है।"

प्यार और फ़रेब Written by Harshita ✍️✍️
#Jazzbaat
इश्क़ आशियाना नहीं एहसास ढूंढता है।
लगाव नहीं मोहब्बत के जज़्बात ढूंढ़ता है।
सही गलत की पहचान ढूंढ़ता है।
दिलों में छिपी कहानियां ढूंढ़ता है।
हाथों में छिपी वो लकीरें ढूंढता है।
आंखों में छिपे सपने ढूंढता है।
दिलों में अधूरी कहानी मिल जाएं तो।
इत्र की मनमोहन महकती मुस्कान ढूंढ़ता है।

#प्यार_और_फ़रेब
#depth
Written by Harshita ✍️✍️
#jazzbaat
इश्क़ आशियाना नहीं एहसास ढूंढता है।
लगाव नहीं मोहब्बत के जज़्बात ढूंढ़ता है।
सही गलत की पहचान ढूंढ़ता है।
दिलों में छिपी कहानियां ढूंढ़ता है।

30 Love

"written by Harshita ✍️✍️ #Jazzbaat मिसाल हम किसकी देते। बदनामी के दाग़ हम पर थे। चिंगारियां भी हमसे निकली। मिसाल हम खुद बन गए। हिदायते खुद की थी। सरहदों पर बंदिशों बेतहाशां थी। कोई रोकं ना पाया मेरे विचारों की धारा। यूं ही कही लिख दिया खुद का नाम। जज़्बाते हर्षिता से पहचान मिल गई। ज़िन्दगी को नई राह मिल गई।"

written by Harshita ✍️✍️
#Jazzbaat
मिसाल हम किसकी देते।
बदनामी के दाग़ हम पर थे।
चिंगारियां भी हमसे निकली।
मिसाल हम खुद बन गए।
हिदायते खुद की थी।
सरहदों पर बंदिशों बेतहाशां थी।
कोई रोकं ना पाया मेरे विचारों की धारा।
यूं ही कही लिख दिया खुद का नाम।
जज़्बाते हर्षिता से पहचान मिल गई।
ज़िन्दगी को नई राह मिल गई।

written by Harshita ✍️✍️
#jazzbaat
मिसाल हम किसकी देते।
बदनामी के दाग़ हम पर थे।
चिंगारियां भी हमसे निकली।
मिसाल हम खुद बन गए।
हिदायते खुद की थी।
सरहदों पर बंदिशों बेतहाशां थी।

28 Love

"Written by Harshita ✍️✍️ #Jazzbaat# हकीक़त को किसी इल्तज़ा की ज़रूरत नहीं होती।। फरमान लिख डाले हमने तेरी मुहब्बत में। भरपूर कर देंगे दस्ताने इश्क़ की गलियों में। दिलों में क्या दीवारों पर भी नाम है हमारे।"

Written by Harshita ✍️✍️
#Jazzbaat#
हकीक़त को किसी इल्तज़ा की ज़रूरत नहीं होती।।
फरमान लिख डाले हमने तेरी मुहब्बत में।
भरपूर कर देंगे दस्ताने इश्क़ की गलियों में।
दिलों में क्या दीवारों पर भी नाम है हमारे।

#love#lost#ishq#khata#jazzbaat #mythoughts #besthindithoughts
Written by Harshita ✍️✍️
#Jazzbaat#
हकीक़त को किसी इल्तज़ा की ज़रूरत नहीं होती।।
फरमान लिख डाले हमने तेरी मुहब्बत में।
भरपूर कर देंगे दस्ताने इश्क़ की गलियों में।
दिलों में क्या दीवारों पर भी नाम है हमारे।

25 Love