Writer Shivam Chaudhary

Writer Shivam Chaudhary Lives in Lucknow, Uttar Pradesh, India

Writer, poet My Insta Id Shivam_chaudhary_11

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"#Pehlealfaaz We all Are Farmers, our Emotions Are Farming Equipments, by using These Equipments We can Grow Healthy crops, or can Destroy everything.... Author - Anant..."

#Pehlealfaaz We all Are Farmers, our Emotions Are Farming Equipments, by using These Equipments We can Grow Healthy crops, or can Destroy everything....




Author - Anant...

We all Are...

209 Love
1 Share

नशे में मै

201 Love
2 Share

तालीम #nojoto #nojotohindi #Poetry #Love #India #wordporn #Thoughts #nojotoapp #writersofinstagram #nojotoofficial #Instagram #wordsofwisdom #nojotopoetry #yourquote #writersofindia #poetsofindia #Shayari #Poetrycommunity #Stories #mirakee #Indianwriters #wordgasm #igpoets #Hindi #Quote #writeraofindia #inspirational #Hindishayari #storytelling #bhfyp

172 Love
1 Share

""

"If Your Heart Is Damaged You Are a Good Person If Your Pain Makes You cry like Child You Are a great lover... And if you r in search of peace you will become an Artist"

If Your Heart Is Damaged 
You Are a Good Person 

If Your Pain Makes You cry like Child
You Are a great lover... 

 And if you r in search of peace 

you will become an Artist

Artist...

161 Love

""

"न तेरा शहर, न ये मेरा शहर है जो मोहब्बत के भूखे हैँ, उनका शहर है इश्क़ वालों की बस्ती ये उनका शहर है न ये हिन्दू का होगा, न मुसलमान लेगा जो ख़ुदा का है सच्चा ये उसका शहर है लखनवी है अदा गोमती बसती दिल में मस्जिदों से सजी,ये नवाबों का घर है देखो ऊँचे इमारत में बसता जो घर है वो इबादत का घर, वो मोहब्बत शहर है देखा पहली दफ़ा कूची गलियों में उसको थी जो 'इक़रा'सी लब पर हर घड़ी हर पहर वो मुझको उसकी मोहब्बत को आस लगी थी अब तलक भी मुझे इंतज़ार है उसका कर गयी बे शहर हमको खुद बेशहर हो हर गली कूच मस्ज़िद से यादें जुडी जो बन गयी है शहर वो बन गयी है शहर वो"

न तेरा शहर, न ये मेरा शहर है 
जो मोहब्बत के भूखे हैँ, उनका शहर है 
इश्क़ वालों की बस्ती ये उनका शहर है 
न ये हिन्दू का होगा, न मुसलमान लेगा 
जो ख़ुदा का है सच्चा ये उसका शहर है 

लखनवी है अदा गोमती बसती दिल में 
मस्जिदों से सजी,ये नवाबों का घर है 
देखो ऊँचे इमारत में बसता जो घर है 
वो इबादत का घर, वो मोहब्बत शहर है 
देखा पहली दफ़ा कूची गलियों में उसको 
थी जो 'इक़रा'सी लब पर  हर घड़ी हर पहर वो 
मुझको उसकी मोहब्बत को आस लगी थी 
अब तलक भी मुझे 
इंतज़ार है उसका 
कर गयी बे शहर हमको खुद बेशहर हो 

हर गली कूच मस्ज़िद से यादें जुडी जो 

बन गयी है शहर वो 
बन गयी है शहर वो

#MeraShehar

153 Love
2 Share