Aunkur Porey

Aunkur Porey

  • Latest Stories

"पर्व है पुरुषार्थ का, दीप के दिव्यार्थ का, देहरी पर दीप एक जलता रहे, अंधकार से युद्ध यह चलता रहे, हारेगी हर बार अंधियारे की घोर-कालिमा, जीतेगी जगमग उजियारे की स्वर्ण-लालिमा, दीप ही ज्योति का प्रथम तीर्थ है, कायम रहे इसका अर्थ, वरना व्यर्थ है, आशीषों की मधुर छांव इसे दे दीजिए, प्रार्थना-शुभकामना हमारी ले लीजिए!! झिलमिल रोशनी में निवेदित अविरल शुभकामना आस्था के आलोक में आदरयुक्त मंगल भावना!!! Shubh Diwali"

पर्व है पुरुषार्थ का,
दीप के दिव्यार्थ का,
देहरी पर दीप एक जलता रहे,
अंधकार से युद्ध यह चलता रहे,
हारेगी हर बार अंधियारे की घोर-कालिमा,
जीतेगी जगमग उजियारे की स्वर्ण-लालिमा,
दीप ही ज्योति का प्रथम तीर्थ है,
कायम रहे इसका अर्थ, वरना व्यर्थ है,
आशीषों की मधुर छांव इसे दे दीजिए,
प्रार्थना-शुभकामना हमारी ले लीजिए!!
झिलमिल रोशनी में निवेदित अविरल शुभकामना
आस्था के आलोक में आदरयुक्त मंगल भावना!!!
Shubh Diwali

#Sita

254 Love
2 Share

"good night shayari in hindi मैं सफलता की प्रार्थना नहीं करती हूं, मैं विश्वास के लिए कहती हूं। - मदर टेरेसा"

good night shayari in hindi मैं सफलता की प्रार्थना नहीं करती हूं, 
मैं विश्वास के लिए कहती हूं।

- मदर टेरेसा

मैं सफलता की प्रार्थना नहीं करती हूं,
मैं विश्वास के लिए कहती हूं।

- मदर टेरेसा

210 Love

एक दिन जब हुआ प्यार का अहसास उन्हें,
वो सारा दिन आकर हमारे पास रोते रहे,
और हम भी इतने खुद गर्ज़ निकले यारों कि,
आँखे बंद कर के कफ़न में सोते रहे !!

227 Love
2 Share