Vikrant Rajliwal

Vikrant Rajliwal Lives in Delhi, Delhi, India

Vikran Rajliwal एक लघु परिचय। (A short introduction) Author, Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal (https:vikrantrajliwal.com) (कवि, शायर, नज़्मकार, ग़ज़लकार, गीतकार, व्यंग्यकार, लेखक एव नाटककार-कहानीकार-सँवादकार) 1) प्रकाशित पुस्तक (published Book) : अत्यधिक संवेदनशील काव्य पुस्तक एहसास, जिसका केंद्र बिंदु हम सब के असंवेदनशील होते जा रहे सभ्य समाज पर अपनी काव्य और कविताओं के द्वारा एक प्रहार की कोशिश मात्र है। Sanyog (संयोग) प्रकाशन घर शहादरा द्वारा प्रकाशित एव ए वन मुद्रक द्वरा प्रिंटिड। प्रकाशन वर्ष जनवरी 2016. प्रकाशित मूल्य 250:00₹ मात्र। 2) Personal Blog Site: Vikrant Rajliwal // site line: Author, Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal // Url address: vikrantrajliwal.com वर्ष 2017 से अब तक सैकड़ो दर्दभरी नज़्म, ग़ज़ल, बहुत सी काव्य-कविताए एव कुछ व्यंग्य किस्से, कुछ एक गीतों के साथ बहुत से विस्तृत समाजिक, आध्यात्मिक एव मनोवैज्ञानिक लेखों के साथ कई प्रकार के सामाजिक एव आध्यात्मिक विचार लिख कर प्रकाशित कर चुके है। एव स्वम् की कई नज़्म कविताओं एव लेखों का अंग्रेजी भाषा में ट्रान्सल्टेड टूल्स की सहायता से स्वयं अनुवाद कर चुके है। 3) Youtube channel: Vikrant Rajliwal पर मेरे द्वारा लिखित मेरी समस्त रचनाओँ जैसे प्रकाशित पुस्तक एहसास से अति संवेदनशील काव्य- कविताए, और मेरी निजी लेखनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर प्रकाशित मेरी सैकड़ो नज़्म, ग़ज़ल और बहुत सी काव्य, कविताओँ एव्यंग्य किस्सों को मेरे स्वयं के स्वरों के साथ देखने और सुनने के लिए मेरे YouTube चैनल को अभी Subscribe कीजिए। 👉 आगामी रचनाएँ (Upcoming Creation's) : अपनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर सक्रिय अति विस्तृत दर्दभरी नज़्म दास्ताँ श्रृंखला "दास्ताँ" के अंतर्गत अपनी दूसरी अति विस्तृत दर्दभरी नज़्म दास्ताँ "एक दीवाना" प्रकाशित करि जाएगी। जल्द ही अपनी ब्लॉग साइट vikranrajliwal.com पर अपनी कुछ लघु कहानियों का प्रकाशन कार्य प्रारंभ करूँगा। एव उनका स्वयं के स्वरों के साथ अपने YouTube चैनल Vikrant Rajliwal पर प्रसारण करूँगा। 👉 साथ ही मैं वर्ष 2016 से एक अत्यंत ही दर्दभरा जीवन के हर रंग को प्रस्तुत करती एक सामाजिक कहानी, एक नाटक पर कार्य कर रहा हु। जिसके समापन के उपराँत एक नाटक एक कहानी के रूप में प्रकाशित करूँगा। मित्रों यह था अब तक का मेरे द्वारा सम्पन्न एव आगामी लेखन कार्य, जो आप सभी प्रियजनों के प्रेम एव आशीर्वाद से शीघ्र अति शीघ्र ही सम्म्प्न हो अपने वास्तविक स्वरूप को प्राप्त हो जाएगा। आप सभी प्रियजन अपना प्रेम एव आशीर्वाद अपने रचनाकार मित्र विक्रांत राजलीवाल पर यू ही बनाए रखे। धन्यवाद। Vikrant Rajliwal (कवि, शायर, नज़्मकार, ग़ज़लकार, गीतकार, व्यंग्यकार, लेखक, एव नाटककार-कहानीकार-सँवादकार)

https://vikrantrajliwal.com

  • Latest Stories
  • Popular Stories

( प्रिंटिड लोगो पोस्टर में मेरी आगामी यूटयूब वीडियो (upcoming YouTube video) की रचना के नाम मे प्रिंटिड त्रुटी( printed logo) के कारण अब उस त्रुटि के सुधारोपरांत सूचना को एक बार पुनः प्रकाशित कर रहा हु।)

😇 नमस्कार प्रिय पाठकों एव हरदिल अज़ीज़ श्रुताओं, आपको यह जानकर अत्यंत ही ख़ुशी प्राप्त होगी कि अब मेरे और आपके अपने यूटयूब चैनल "YouTube channel" *Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal पर मेरी आगामी रचना की वीडियो मेरे ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर सक्रिय ब्लॉग "दास्ताँ" के अंतर्गत मेरी प्रथम प्रकाशित अत्यधिक विस्तृत दर्दभरी नज़्म दास्ताँ "एक इंतज़ार... महोबत।" है

जिसको मैं स्वयं के स्वरों के साथ एक दिलकश अंदाज़ में आप सभी के समुख़ अपने यूट्यूब चैनल (YouTube Channel) के माध्यम द्वारा जल्द ही प्रस्तुत करूँगा।

शुक्रिया।

विक्रांत राजलीवाल।

👉 मेरे चैनल का पता निचे अंकित है। एव यदि अपने अभी तक मेरे यूट्यूब चैनल (YouTube Channel) को सब्सक्राइब "Subscribe नही किया है तो कृपया अभी सब्सक्राइब "Subscribe" कीजिए। एव अपना प्रेम और आशीर्वाद प्रदान करें। 💖💖

👉 Watch "Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal" on YouTube
https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A 🙏❤️❤️

4 Love
0 Comment

😇 मैं आपका अपना मित्र विक्रांत राजलीवाल आप सभी के अनमोल प्रेम एव आशीर्वाद के लिए अपने ह्रदय से आपका धन्यवाद अदा करता हु।

विक्रांत राजलीवाल। ✍️

😇 Your heartfelt thanks for your precious love and blessings.

Vikrant Rajliwal✍️

"वर्ष 2017 से अब तक मेरे द्वारा लिखित एव प्रकाशित सेकड़ो दर्दभरी एव मनोरंजन नज्म, ग़ज़ल एव काव्य कविताओ के साथ बहुत से सामाजिक, आध्यात्मिक एव मनोवैज्ञानिक लेखों एव विचारों के साथ मेरी आगामी रचनाओ के पाठन हेतु अभी मेरे ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com को फॉलो कीजिए।"

"एव मेरी रचनाओ को स्वयं मेरे स्वरों के साथ देखने सुनने के लिए मेरे यूटयूब चॅनल को अभी सब्सक्राइब कीजिए। जिसका यूआरएल लिंक है "👉
https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A ❤️

4 Love
0 Comment

Vikran Rajliwal एक लघु परिचय। (A short introduction)

Author, Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal (https:vikrantrajliwal.com)

(कवि, शायर, नज़्मकार, ग़ज़लकार, गीतकार, व्यंग्यकार, लेखक एव नाटककार-कहानीकार-सँवादकार)

1) प्रकाशित पुस्तक (published Book) : अत्यधिक संवेदनशील काव्य पुस्तक एहसास, जिसका केंद्र बिंदु हम सब के असंवेदनशील होते जा रहे सभ्य समाज पर अपनी काव्य और कविताओं के द्वारा एक प्रहार की कोशिश मात्र है।

Sanyog (संयोग) प्रकाशन घर शहादरा द्वारा प्रकाशित एव ए वन मुद्रक द्वरा प्रिंटिड। प्रकाशन वर्ष जनवरी 2016. प्रकाशित मूल्य 250:00₹ मात्र।

2) Personal Blog Site: Vikrant Rajliwal // site line: Author, Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal // Url address: vikrantrajliwal.com वर्ष 2017 से अब तक सैकड़ो दर्दभरी नज़्म, ग़ज़ल, बहुत सी काव्य-कविताए एव कुछ व्यंग्य किस्से, कुछ एक गीतों के साथ बहुत से विस्तृत समाजिक, आध्यात्मिक एव मनोवैज्ञानिक लेखों के साथ कई प्रकार के सामाजिक एव आध्यात्मिक विचार लिख कर प्रकाशित कर चुके है। एव स्वम् की कई नज़्म कविताओं एव लेखों का अंग्रेजी भाषा में ट्रान्सल्टेड टूल्स की सहायता से स्वयं अनुवाद कर चुके है।

3) Youtube channel: Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal पर मेरे द्वारा लिखित मेरी समस्त रचनाओँ जैसे प्रकाशित पुस्तक एहसास से अति संवेदनशील काव्य- कविताए, और मेरी निजी लेखनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर प्रकाशित मेरी सैकड़ो नज़्म, ग़ज़ल और बहुत सी काव्य, कविताओँ एव्यंग्य किस्सों को मेरे स्वयं के स्वरों के साथ देखने और सुनने के लिए मेरे YouTube चैनल को अभी Subscribe कीजिए।

👉 आगामी रचनाएँ (Upcoming Creation's) : अपनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर सक्रिय अति विस्तृत दर्दभरी नज़्म दास्ताँ श्रृंखला "दास्ताँ" के अंतर्गत अपनी दूसरी अति विस्तृत दर्दभरी नज़्म दास्ताँ "एक दीवाना" प्रकाशित करि जाएगी।

जल्द ही अपनी ब्लॉग साइट vikranrajliwal.com पर अपनी कुछ लघु कहानियों का प्रकाशन कार्य प्रारंभ करूँगा। एव उनका स्वयं के स्वरों के साथ अपने YouTube चैनल Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal पर प्रसारण करूँगा।

👉 साथ ही मैं वर्ष 2016 से एक अत्यंत ही दर्दभरा जीवन के हर रंग को प्रस्तुत करती एक सामाजिक कहानी, एक नाटक पर कार्य कर रहा हु। जिसके समापन के उपराँत एक नाटक एक कहानी के रूप में प्रकाशित करूँगा।

मित्रों यह था अब तक का मेरे द्वारा सम्पन्न एव आगामी लेखन कार्य, जो आप सभी प्रियजनों के प्रेम एव आशीर्वाद से शीघ्र अति शीघ्र ही सम्म्प्न हो अपने वास्तविक स्वरूप को प्राप्त हो जाएगा। आप सभी प्रियजन अपना प्रेम एव आशीर्वाद अपने रचनाकार मित्र विक्रांत राजलीवाल पर यू ही बनाए रखे।

धन्यवाद।

Vikrant Rajliwal
(कवि, शायर, नज़्मकार, ग़ज़लकार, गीतकार, व्यंग्यकार, लेखक, एव नाटककार-कहानीकार-सँवादकार)

😇 यदि आप किसी प्रोडक्शन हाउस के ऑर्गनाइजर है और मेरी द्वारा लिखित एव रचित मेरी सैकड़ो रचनाओ के जरिए कोई कार्यक्रम करवाना चाहते है तो आप निसंकोच मुझ से सीधे संपर्क कर सकते है। मेरी कमाई का समस्त रुपया मेरे समाजकार्य (नशे से पीड़ित मासूम बच्चों के कल्याण हेतु) हेतु समर्पित होगा।

मेरा कांटेक्ट नंबर नीचे अंकित है।

मेरा वट्सएप नम्बर है ( my whatsaap no is ) : 91+9354948135

दिल्ली बुराड़ी 110084

5 Love
0 Comment

🎙️ Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal

😇 देखें है धोखे जिंदगी में जिंदगी से जिंदगी के बेहिंतिया।

हर बढ़ते कदम से बढ़ते फासले, दरमियाँ अपनो के बेहिंतिया।।

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।✍️❤️

🙏 Follow my personal blog site
https://vikrantrajliwal.com ❤️❤️

url of my Youtube channel is https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A❤️❤️

my facebook page link is https://www.facebook.com/vikrantrajliwal85/ ❤️❤️❤️

5 Love
0 Comment

एक समय की बात हैं। कुछ मसखरे एक टटू ठेले में सूट बूट पहन कर कहि कार्यक्रम पेश करने को जा रहे थे। नही नही शायद कहि से आ रहे थे। तभी एक मसखरा जिसने शायद कुछ मदिरा पी हुई थी दूसरे मसखरे के पैर पर पैर रखते हुए उसे कोंचते हुए, हँसते मुस्कुराते हुए एक कुटिल मुस्कान बिखेरता हुआ आगे को खिसक जाता है। [ 889 more words ]
http://vikrantrajliwal.com

🙃 व्यंग्य किस्सा "मसखरे" मेरे द्वारा लिखित एक हास्य व्यंग्य किस्सा है। जिसको आज अपने स्वयं के स्वरों के साथ प्रथम बार अपने YouTube चैनल के माध्यम द्वारा जीवंत रुप देने का प्रयास किया है।

Click the link of my video and share & Subscribe my channel.

Watch "मसखरे ( Maskhare ) व्यंग्य किस्सा ( comedy , satire , Stroy , nazm , Gazal )" on YouTube https://youtu.be/LSGHIitR1Bg ❤️❤️🤗🙏💖💖

4 Love
0 Comment