Wakil Mandal

Wakil Mandal

मनुष्य वही श्रेष्ठ माना जाएगा, जो कठिनाई में अपनी राह निकालता है.

  • Latest Stories

बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं,
लौटने पर भी उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी
जितनी दूरी तय कर लक्ष्य तक पहुच सकते है।

210 Love
1 Share

"गुरुजी ने वर्ग में पूछा - "औरत 👩 अपनी मांग में सिंदूर क्यों लगाती है ?" एक लड़की बोली - क्योंकि लड़कों को ध्यान रहे कि, जिस प्लॉट पर उनकी नजर है, उसका भूमीपूजन हो गया है 💁‍♀😆😝😜"

गुरुजी ने वर्ग में पूछा - "औरत 👩 अपनी मांग में सिंदूर क्यों लगाती है ?" एक लड़की बोली - क्योंकि लड़कों को ध्यान रहे कि, जिस प्लॉट पर उनकी नजर है, उसका भूमीपूजन हो गया है 
💁‍♀😆😝😜

गुरुजी ने वर्ग में पूछा - "औरत 👩 अपनी मांग में सिंदूर क्यों लगाती है ?" एक लड़की बोली - क्योंकि लड़कों को ध्यान रहे कि, जिस प्लॉट पर उनकी नजर है, उसका भूमीपूजन हो गया है 💁‍♀😆😝😜

211 Love

थोड़ी सी तू अस्त-व्यस्त है…!
फिर भी...,”ज़िंदगी”…., तू ज़बरदस्त है…

213 Love
3 Share

समय चला, पर कैसे चला…पता ही नहीं चला…
ज़िन्दगी की आपाधापी में, कब निकली उम्र हमारी, यारों
पता ही नहीं चला.
कंधे पर चढ़ने वाले बच्चे, कब कंधे तक आ गए,
पता ही नहीं चला.
किराये के घर से शुरू हुआ था सफर अपना
कब अपने घर तक आ गए,
पता ही नहीं चला.

209 Love
2 Share