Nojoto: Largest Storytelling Platform

New kahani in hindi Quotes, Status, Photo, Video

Find the Latest Status about kahani in hindi from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about, kahani in hindi.

    PopularLatestVideo
937608c1c95e6eb732933bb46f13f16b

Every type vidio

Kahani in hindi

Kahani in hindi #Poetry

0 Views

b7f71c976c153b746bdbc4f10ae0b6ff

Pooja Singh

motivational story kahani in hindi #motivatation

motivational story kahani in hindi #motivatation #कविता

0 Views

00928572f06203b86ec30732d440ce6a

Nojoto Films

Aaina- Short Horror Film Story in Hindi | Bhoot ki Kahani in Hindi | भयंकर भूत की डरावनी कहानी
अगर आपके पास भी है कोई कहानी तो, शेयर करें No

Aaina- Short Horror Film Story in Hindi | Bhoot ki Kahani in Hindi | भयंकर भूत की डरावनी कहानी अगर आपके पास भी है कोई कहानी तो, शेयर करें No #aaina #horrorstory #films #कहानियाँ #Nojotokahaniyan #भूतकीकहानी

7.88 Lac Views

511196c08b2ac7fb412998b52f7d47f2

Mukesh Bhabhor

#kahaani#kahani
138f85c6d53f27f43f853d4f7da2f596

MDS Yadav

motivational story in hindi #short #kahani

motivational story in hindi #short #kahani #शायरी

0 Views

e2a3696fe59509d0fc68221fde106e8d

Meghwans Saab

मां......….....

मां की कहानी एक मां अपने बच्चों
के लिए भगवान से भी लड़
सकती हैं परन्तु आपने बच्चों से नहीं 
लड सकती मगर बच्चे बड़े होते
ही उसी मां को घर से निकाल
देते हैं फिर भी वही मां अपने
बच्चों को बुरा नहीं बतातीं
क्योंकि मां को पता होता हैं
की वह भटक गया है बस यही 
आशा लिए मां चुप रहती है
की एक दिन वो वापिस जरूर
आयेगा ! प्राथना है कि किसी के लिए 
भी आपने माता पिता के साथ
ऐसा ना करें,

©Meghwans Saab
  #MothersDay #hindi kahani #hindi kahani

68 Views

7bd89c6682b75e2ff6e355306f443d63

ABK Delhi wala

ऐेैक लड़की कैसे सब के लिए बौझ बन जाती है 

         ( ऐैक उदास लड़की की कहानी)


मीना अपने माता पिता की बहुत लाडली थी। तीन बडे भाईयों की बहन थी। कोई भी चीज मांगने पर उसी वक्त सामने हाजिर हो जाती। पूरे घर में रौब था उसका। पूरे परिवार ओर नौकरों पर राजकुमारी की तरह हुक्म चलाती थी मीना
स्कूल में भी पूरा रौब था उसका। बडे घर की लाडली जो थी वह। ऐसे ही उसने कालेज में दाखिला लिया। उसके ठाठबाट, बडी गाड़ी में आना जाना, हर दिन नया फैशन देखकर हर कोई उससे दोस्ती करना चाहता था।

थोड़े ही दिनों में उसके बहुत से दोस्त बन गए। पूरे कालेज में उसकी अपनी ही एक पहचान थी। इन दिनों उसके घर एक रिश्ता आया। खानदानी लोग थे ओर पापा की पुरानी जान-पहचान थी उनके साथ। मीना के साथ कोई जबरदस्ती नहीं थी| पर मीना ने फिर भी हां कर दी, कयोंकि वह अपने परिवार से बहुत प्यार करती थी।

वह जानती थी कि वह लोग उसका अच्छा ही सोचेंगे। लडके का नाम सूरज था। सूरज काफी पढा लिखा ओर समझदार लडका  था। ससुराल वाले भी बहुत अच्छे थे। ससुराल में मीना की जगह वैसी ही थी जैसी कि मायके में। कोई भी काम मीना की सलाह के बिना नहीं होता था। सबकी लाडली बहू बन गयी थी वह। फिर उसके घर एक बेटे का जन्म हुआ।

 समर मीना को जान से प्यारा था। पोता पाकर ससुराल वाले तो फूले नहीं समाते थे। मीना कभी कभी सोचती कि उसकी किस्मत कितनी अच्छी है। उसका हर अपना उसे कितना प्यार करता है। चाहे जीवन में कैसा भी समय आये मेरे अपने हमेशा मेरे साथ हैं, मैं कभी अकेली नहीं हो सकती।

कितनी खुशकिस्मत हूँ मैं। पर शायद मीना की खुशियों को उसकी अपनी ही नजर लग गई थी। एक दिन वह मायके जाने की जिद्द कर बैठी। सूरज को बहुत काम था।लेकिन वह फिर भी उसे ले गया।

रास्ते में उनकी गाड़ी दूसरी गाड़ी से टकरा गई। मीना, सूरज ओर समर बहुत बुरी तरह से जख्मी हो गए। काफी दिनों के इलाज के बाद समर ओर सूरज तो ठीक हो गए लेकिन मीना पूरी तरह ठीक ना हो सकी। सर पर चोट लगने के कारण वह अपनी आंखों की रौशनी खो बैठी। अब मीना की किस्मत जैसे उलटे पांव चलने लगी।

मायके वाले कुछ दिनों तक उसे मिलने आते रहे फिर कभी कभार फोन ही करके पुछ लेते कि अब कैसी हो। धीरे धीरे ये सिलसिला भी कम हो गया। ससुराल वालों की सहानुभूति भी कम होने लगी। घर में किसी को पास बैठने के लिए कहती तो जवाब मिलता बहुत काम है अब तुम भी हाथ नहीं बंटा सकती।

सूरज भी चिडचिडा हो गया था। बस समर ही था उसके साथ जिसके साथ हंसते खेलते उसका वक्त गुजरता। एक दिन मीना के हाथ से कुछ सामान गिर गया जिसकी वजह से समर को हलकी सी चोट लग गई। मीना के सास ससुर ने सूरज को उससे अलग कर दिया कि कहीं उसके ना देखने की वजह से बच्चे का कोई नुकसान ना हो जाये।

मीना अंदर से टूट चुकी थी। एक दिन उसने सबके सामने मायके जाने की इच्छा रखी तो सूरज उसे तुरंत मायके छोड़ आया। जैसे कि वह भी यही चाहता था। लेकिन समर को उसके साथ नहीं भेजा गया। मीना कभी समर से दूर नहीं रही थी, पर अपनी कमी के कारण उसने ज्यादा बहस नहीं की।

मीना को लगा कि वह तीन चार दिन वहां रहेगी तो थोड़ा हवा पानी बदल जायेगा कयोंकि वह कितने दिनों से कहीं भी बाहर नहीं गयी थी। घर वाले भी इतने दिनों बाद उसे देखकर कितने खुश होंगे। मीना के घर पहुंचने पर सब लोग बहुत खुश हुए। खाने में सब कुछ मीना की पसंद का ही बना था।

उसने अपने मम्मी पापा ओर भाई भाभियों से दिल खोल कर बातें की। उनके छोटे छोटे बच्चे भी बूआ के साथ घुलमिल गए थे। रात को सोने के वक्त जब वह कपडे बदलने लगी तो उसे पता चला कि उसका बैग तो बहुत भरा हुआ था।

वह सब समझ गई। वह बहुत उदास हो गई। कुछ दिनों तक तो सब ठीक रहा, फिर जैसे सब बदलने लगा। सबका व्यवहार बदल रहा था। वह लोग जैसे थक चूके थे उससे। सब लोग घूमा फिरा कर पुछने लगे कि सूरज कब आ रहा है उसे ले जाने।

वह बहाना बना देती। जबकि वह जानती थी कि उस घर मे अब उसके लिए कोई जगह नहीं। मीना से चलते वक्त कुछ ना कुछ नुक्सान हो जाता। थोड़ी बहुत टोकाटाकी उसे सूनाई देती। वह टाल देती।

एक दिन उसके हाथ से लगकर एक कीमती फूलदान टूट गया। छोटी भाभी ने बहुत हंगामा मचाया। मीना के माता पिता रोज रोज के झमेलों से तंग आ गए थे। उन्होंने सूरज को खुद से फोन कर दिया। सूरज मीना को अपने घर ले गया। मीना को अपने परिवार वालों से ये उम्मीद ना थी जिस मीना के कहे बिना घर मे एक पत्ता भी नहीं हिलता था, उस घर के लिए वह अब बोझ बन चुकी थी।

सूरज के साथ ससुराल आते वक्त वह बहुत खुश थी। क्योंकि वह अपने घर जा रही थी अपने जिगर के टूकडे अपने बेटे समर के पास। पर यह खुशी भी कुछ पल की ही थी। सारा बन्दोबस्त पहले ही किया हुआ था। मीना को सीधे ऊपर वाले कमरे में पहुंचा दिया गया। समर से दूर रहने की सख्त चेतावनी दी गई।

एक कामवाली हैमा को उसकी जिम्मेदारी सौंपी गई। जो उसके खाने पहनने जैसी जरूरतों का ध्यान रखती। मीना ज्यादातर चुप ही रहती। कभी-कभी कामवाली हैमा से थोडि बात चीत कर लेती। उसके जरिये समर का पता चल जाता। सबकी लाडली बेटी ओर बहू सबके लिए लाडली से बोझ बन चुकी थी।

©ABK Delhi wala Kahani # Hindi kahani

Kahani # Hindi kahani #कविता

11 Love

ba088fa8e7772b487e459e8d223208d4

Pankaj Ramawat

#kahani #motivate #Hindi #Hindu #shivajimaharaj #Love
fc63f4a9634168d8dff6c1656829a2c0

Deepika Vardhan

एक समय की बात है एक तपस्वी जंगल मैं तपस्या कर रहा था ।वहां एक लकड़हारा तपस्वी के पास आता है और उनको अपना हाल बताता है कि किस तरह वो रोज लकड़ी काट कर अपना गुजारा करता है।तपस्वी कहता है की यहां से कुछ दूरी पर इमरती लकड़ी के पेड़ हैं जिनको काट कर उसे अच्छी खासी आमदनी मिल जायेगी।
पहले तो उस लकड़हारे को उसकी बात पे विश्वास नही हुआ पर फिर भी जब वो वहां से कुछ दूर गया था सच में वहां पर बहुत सारे इमरती लकड़ी के पेड़ थे।वो बहुत खुस हुआ और तपस्वी का मन ही मन शुक्रिया करने लगा। ऐसे ही पेड़ काटते काटते उसका आमदनी अच्छी होने लगी वो 2=3दिन का गुजारा आराम से करने लगा । एक दिन वो तपस्वी का शुक्रिया करने उनके पास आया तपस्वी ने कहा तुम अभी भी वही हो थोड़ा सा आगे बड़ो आगे तुम्हे कोयले की खदाने मिलेंगी।और सच में वहां कोयला ही कोयला था वो बहुत खुश हुआ और अब कोयला बेच के अपनी आमदनी चलाने लगा।फिर कुछ दिनों बाद वो तपस्वी के पास आया और तपस्वी से बोला की वो बहुत खुश है तपस्वी ने पूछा की क्या तुम अभी वी कोयले तक ही पहुंच पाए हो आज बड़ो आगे तुम्हे चांदी मिलेगा।वहां उसे सच मैं चांदी मिला।चांदी पाकर उसने साड़ी करली और अपनी गृहस्ती बसा ली।अब वो कुछ दिन बाद फिर से जंगल आया वहां तपस्वी से बात कर रहा था तो तपस्वी ने कहा थोड़ा आगे जाओ तुम्हे कुछ और अमूल्य चीज मिलेगी। जैसा तपस्वी ने कहा उसने वही किया और अब उसे सोना मिला ।अब वो राजा की तरह अपना जीवन जीने लगा। उसके 2पुत्र थे,धन संपत्ति थी वो बहुत खुस था।वो जंगल से एक दिन गुजर रहा था तो तपस्वी उसे दिखा वो तपस्वी के पास चला गया और अपने सुखी जीवन के बारे मे तपस्वी को बताने लगा तपस्वी बोला हे पुरुष कभी तो आगे बड़ो आगे और वी अधिक मूल्यवान वस्तु है। वो व्यक्ति वहां से कुछ आगे गया तो उसे वहां हीरे की खान मिली वो बहुत ज्यादा खुश हुआ और अपने राज्य लौट गया। बहुत समय बाद वो तपस्वी से मिलने आया और अपने दिल का हाल बताया कि वो आजकल बहुत बेचैन रहता है तो तपस्वी ने उसे कहा की तुम कल मेरे पास आना। वो व्यक्ति अगले दिन तपस्वी के पास आया और तपस्वी ने उसे आंखे बन्द करके ध्यान लगाने को कहा  पर वो ज्यादा देर वहां रुक नही पाया ऐसा बहुत दिन तक चलता रहा जब वह तपस्वी k पास से जाता तो खुश होकर जाता और वापिस दुखी होकर लौटा करता था। धन आने से पहले वो बहुत खुश रहा करता था पर अब ऐसा नहीं था धन के आने से उसको हर समय भय ,चिंता और बेचैनी होने लगी थी। वह तपस्वी से पूछता है की वे जानते थे की धन कहां है फिर भी उन्होंने जंगल में तपस्या करना क्यों चुना धन के जगह तो तपस्वी बोले अगर मैं धन चुन लेता तो इतना बेफिक्र शांत और भये मुक्त न होता और तुम्हारे जैसे सुकून की तलाश कर रहा होता। पर मैने ध्यान लगाना तपस्या करना चुना इसीलिए मैं खुश हूं।

शिक्षा ---धन से हम कुछ क्षणों की खुशी तो पा सकते हैं पर भय ,बेचैनी और सुकून खो देते हैं , वही पर तपस्या और ध्यान ऐसी अवस्था है जो हमे परम शांति और खुशी देती है।
"अर्थात ध्यान से बड़ा कोई धन नही है।"

©Deepika Vardhan khaani
#kahani 
#Stars
898f613aba865a4b995fcb540833316b

singr rk gupata

Waqt Kahan Se Kahan Le Aaye kahani real kahani

#NITKavi

Waqt Kahan Se Kahan Le Aaye kahani real kahani #NITKavi #ज़िन्दगी

137 Views

0076dc4062504d3e0fb44ccbd25a1cc1

Rohit kumar

तेरा साथ न मिला – हिंदी कविता

हाथ थाम कर भी तेरा सहारा न मिला
में वो लहर हूँ जिसे किनारा न मिला

मिल गया मुझे जो कुछ भी चाहा मैंने
मिला नहीं तो सिर्फ साथ तुम्हारा न मिला

वैसे तो सितारों से भरा हुआ है आसमान मिला
मगर जो हम ढूंढ़ रहे थे वो सितारा न मिला

कुछ इस तरह से बदली पहर ज़िन्दगी की हमारी
फिर जिसको भी पुकारा वो दुबारा न मिला

एहसास तो हुआ उसे मगर देर बहुत हो गयी
उसने जब ढूँढा तो निशान भी हमारा न मिला
💔🥀✍️

©Surabali Yes
  #Mountains #kawita #kahani #Sondary #maja #in #Hindi #hindi_breakup_shayari
1192dee2d3455c6f47e035a261212485

Sandip Sk

meri yaad ayi

©Sandip Sk
  #hindi kahani

0 Views

5bf17fe4dc96fa481e72d6cdea105296

Sanjeev Singh

 Hindi kahani

0 Love

c7f0868856f7ab793694d7b2b5d923f8

Raj Gupta

हिन्दी कहानी एक रचना है, जो जीवन के किसी एक अंग या मनोभाव को प्रदर्शित करती है । कहानी सुनने, पढ़ने और लिखने की एक लम्बी परम्परा हर देश में रही है; क्योंकि यह मन को रमाती है और सबके लिए मनोरंजक होती है। आज हर उम्र का व्यक्ति कहानी सुनना या पढ़ना चाहता है यही कारण है कि कहानी का महत्त्व दिन-दिन बढ़ता जा रहा है। हर कहानी का अपना एक अलग उद्देश्य होता है कुछ कहानियाँ हमे कोई सिख प्रदान करती है, कुछ हमे मनोरंजन कराती है, कुछ जीवन के संघर्ष के बारे में बताती है तो कुछ हमे धार्मिक बातों की ओर ले जाती है ।

©Raj Gupta
  Hindi Kahani

Hindi Kahani #Quotes

0 Views

91e8a2348bf5be50ead24ba6158fb668

cold blood

लोग कहते है हम मुस्कुराते बहुत है
और हम थक गए दर्द छुपाते छुपाते 
खुश हूं सबको खुश रखता हूं
लापरवाह हूं,फिर भी सबकी परवाह करता हूं....
चाहता हूं कि सारी दुनिया बदल दू
पर दो वक्त की रोटी की जुगाड से,
फ़ुरसत नहीं मिलती दोस्तों. Hindi kahani

Hindi kahani

3 Love

171b24446bd1c4236b6fe777e93c752b

Junu

यह प्रेम कहानी (love story in hindi) एक ऐसे लड़के की है जो प्रेम शब्द के बारे में कुछ नहीं जानता था। उसने कभी भी प्रेम के बारे में नहीं जाना था। चलिए हम उस लड़के के प्रेम कहानी (love story ) को जानते थे। एक लड़का था, वह काफी खुश रहता था। उसके जीवन में कोई गम नहीं था। अभी उसकी पढ़ाई ख़त्म नहीं हुए थी। हम आपको बता दें कि वह लड़का पढ़ने में बहुत तेज था।

©Junu
  Hindi kahani

Hindi kahani #Shayari

21 Views

0e2fa14c7080afcdb80a018703ecc8f6

Sanjay

कन्यादान हुआ जब पूरा, आया समय विदाई का । हँसी खुशी सब काम हुआ था, सारी रस्म अदाई का ||

बेटी के उस कातर स्वर ने, बाबुल को झकझोर दिया। पूछ रही थी पापा तुमने, क्या सचमुच में छोड़ दिया।

अपने आँगन की फुलवारी, मुझको सदा कहा तुमने । मेरे रोने को पलभर भी, बिल्कुल नहीं सहा तुमने ||

क्या इस आँगन के कोने में, मेरा कुछ स्थान नहीं । अब मेरे रोने का पापा, तुमको बिल्कुल ध्यान नहीं ॥

नहीं रोकते चाचा ताऊ, भैया से भी आस नहीं । ऐसी भी क्या उदासी है, कोई आता पास नहीं ॥

बेटी की बातों को सुन के, पिता नहीं रह सका खड़ा । उमड़ पड़े आँखों से आँसू, बदहवास सा दौड़ पड़ा ।।

माँ को लगा गोद से कोई, मानों सब कुछ छीन चला। फूल सभी घर की फुलवारी से, कोई ज्यों बीन चला।

बेटी के जाने पर घर ने, जाने क्या-क्या खोया है। कभी न रोने वाला पिता भी आज, फूट-फूटकर रोया है ।।

©Sanjay
  # Hindi kahani

# Hindi kahani #Shayari

83 Views

0fab2e23eb33a33fca5926e878325395

KING OP

एक कवि गरीबी से तंग आके डाकू बन गया . डकैती करने वो बैंक गया और जाके सबके ऊपर पिस्तौल तान दिया और बोला

"अर्ज़ किया है . ...

तकदीर में जो हैं, वोही मिलेगा तकदीर में जो है, वोही मिलेगा

हैंड्स उप ! अपनी जगह से कोई नहीं हिलेगा !!"

केशियर के पास जाके कहता है - "अपने कुछ ख़्वाब मेरी आँखों से निकाल लो अपने कुछ ख़्वाब मेरी आँखों से निकाल लो

जो कुछ भी तुम्हारे पास है जल्दी से इस बैग में डाल दो !!

जब वो बैंक लूट चूका था तो जाते जाते बोल के जाता है - "भुला दे मुझे, क्या जाता है तेरा

भुला दे मुझे, क्या जाता है तेरा

मैं गोली मार दूंगा जो किसी ने पीछा किया मेरा !!

©KING OP
  hindi kahani

hindi kahani #कविता

1,339 Views

93b765113e5b865c60c2d5ef996c6bd9

Ravindra Sharma Ravindra Sharma

#hindi kahani #

#Hindi kahani # #लव

0 Views

fcc81a32a0299755826dff8e8105b7aa

DHARMA

Hindi kahani Hindi video

Hindi kahani Hindi video #कॉमेडी

0 Views

5f476322860d7713def5beb95907fcb8

Chaudhary Ashish

Merii pheli khanii ..

Rahul- Aek shoda kro gae ..
Zaeba - Dil se ruohh kaa .
R - Shashon kaa or nazaron kaa .
Z - Eezhaare vada kro gae .
R - Jb tk ruohh rhegi tb tk .
Z - Jante bhi ho kimat kya rqqii h .
R - Nhi pata pr tumhre aek aek alfaz pr yakiian h .
Z - Shofagar ho jaan lena hum vo hen zishka koii nhii pr tere shode me kudh ki wagha talsh rhe hen .
R - Yakin krlo ya kuch girvii rqlo .
Z - bas yhi tao nhi siika sahib dil de doo or khe kr chal doo kiraydar hi too ten .
R - yakin too kro .
Z - chalo yakin kr leten h shaen tumharii girvii or nazaron me tumhari zghh rhe gii .
R - waqth kitna milega .
Z -  jb tk ruohh rhegi tb tk .

©Chaudhary Ashish #kahani #Dard_e_dil #Hindi

6 Love

93598b1744a732123097dbdab49c3849

rkcleducation

#nozoto #hindi #kahani
af242c30cfbfe1f070f835b520ad99d5

Jasvant rana

#Hindi #kahani #Nojoto
7966d5fa1f557d43ccdd77127cd4b92b

Vishal Prajapati

लालची लोमड़ी: एक गर्मी के दिन, एक भूखी लोमड़ी जंगल में भटक रही थी. उसे एक खरगोश मिला, लेकिन उसने उसे छोड़ दिया क्योंकि वह बहुत छोटा था.

©Vishal Prajapati
  #gandhijayanti # hindi kahani

0 Views

af3dfb199e1998d9a22251f368801031

JACK की कहानियां

jalpari ki kahani #kahaani #Love

jalpari ki kahani #kahaani Love #लव

9 Views

0076dc4062504d3e0fb44ccbd25a1cc1

Rohit kumar

2वो मेरी अक्स भी है, मेरी तस्वीर भी है।
वो मेरी मुर्शिद भी, और मेरी पीर भी है,

उनके हथेली पे कुछ ऐसी लकीर भी है।
जिससे ज़ाहिर है वो मेरी तक़दीर भी है,

हम दोनों हैं तो आसमाँ के आज़ाद परिंदे
और फिर मैं उनका वो मेरी जंजीर भी है,

सब के अपने फ़लसफ़े है अपने क़ायदे हैं।
लेकिन वो मेरी ख़्वाब भी है ताबीर भी है,

बहोत क़ीमती दौलत संजोह लिया है मैंने
मेरी ख़ुशियाँ है,एक हसीन जागीर भी है,

मेरी सारी कविताओं में जो मौजूद है महक
कुछ तो उनकी ख़ुशबू कुछ तासीर भी है।

©Surabali Yes
  #Flower #kahani #kahanikaar #payar #in #Hindi #hindi_poetry #hindi_quotes #kawita #so_sad
53510a6fdb656f3d6e10c6a4655020e4

Ritu Yadav

Ek Sacchi Kahani #kahini #Hollywoodstory #story
137e8b0e693dea393ac125f4968e1df4

Pooja Diwaker

#Hindi #kahani #Nojoto #stoytelling
loader
Home
Explore
Events
Notification
Profile