tags

Best Ladki Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best Ladki Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 638 Followers
  • 2821 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

#stereotype #Ladki #padman #Nojoto #Nojotovoice

966 Love
10.4K Views
92 Share

#merikahaani
an #Ordinary #girl
ek aam si #Ladki
#myvoice #Nojotovoice #Poetry #nojotohindi #Life #Love #Friendship
dr_seema

257 Love
7.9K Views
18 Share

""

"maine v ankho se sehnayi bajayi hai muskil se ek ladki fasayi hai kal se ek dar sata raha koi sarfira uske ghar k bahar bhaaja baja raha soach raha hu Kahi wo na use pata lai Tod k meri sehnayi kahi khud ki bin baja le"

maine v ankho se sehnayi bajayi 
hai 
muskil se ek ladki fasayi 
hai 
 kal se ek dar sata raha  koi sarfira uske ghar k bahar bhaaja baja
 raha 
soach raha hu Kahi wo na use pata lai 
Tod k meri sehnayi kahi khud  ki bin baja le

✍️a6.1 #nojoto #nojotohindi #Poetry#story#Quotes#erotica#Music#Video#song#Love#Life#parindey#udaan#honsle#chintiyan#pahad#salam#ranjha#majnu#heer#laila#TikTok#hindishayri#nojotoquotes#nojotopoetry#naam#manzil#asman#kavitagautam#divyajoshi#Aisha#aahnaverma#Binababi#achalsharma#chhayayadav#nishiignatius#dikshitagarg#AkashiParmar#aadarshasingh#DeepikaDubey#DeepaRajput#shalijas#HaimiKumari#madhukaur#EshaJoshi#KalavatiKumari#leelawatisharma#smrutirekhadash#parulsharma#rumagupta#roshnijangu#kusumlata#

187 Love

""

"(गुमसुम लड़की) बेबस लाचार हुए बैठी है ये गुमसुम सी लड़की मर के कई सवाल लिए बैठी है. जन्म से अंत तक कि कहानी का किये हिसाब बैठी है,बेटे के लालच में क़ातिल परिवार का सितम,कैसे कटी कोख़ में,घबरा के,खुद पे चली कैंची का हिसाब किये बैठी है. लिए जी रही थी कोख़ में जो हसीन दुनिया के ख्वाब,ये लिए उन सपनों की राख बैठी है. रोशन चाँद सा चमकना चाहती थी जो,घनी काली रात सा अंधेरा किये खाक बैठी है. जो खुद साफ करना चाहती थी दुनिया से नफ़रत,देख ख़ुदा वो ख़ुद कोख़ से ही साफ़ हुए बैठी है. ना रहा इसका कोई अपना जो माँ थी वही कलयुग का शैतान हुए बैठी है.कहे बाप किसको ये जो था बाप वही फेंक आया कचरे पे,देख आँखे खोल ख़ुदा आज ये कचरे के ढेर पे हुए लाश बैठी है,गुमसुम सी लड़की आज बडी उदास बैठी है. खा रहे कटा फटा जिस्म जानवर इसका किसलिए ये तेरे है शमशान कब्रिस्तान,आज तो तेरी भी इंसानियत जल दफ़न हुए बैठी है. ना आया फेंकने वाले को रेहम ना आया तुझे रेहम ये तेरे होने पे ही स्वाल लिये बैठी है। पूछती है खुदा से तेरे नरक में ही दे देता जगह क्यूं मेरी रूह इन भेड़ियों के लालच का बन शिकार बैठी है. तुं तो कहता रहा नही जला सकता कोई रूह,देख मेरे पास आ के कितने मेरी रूह आग के अंगार लिए बैठी है."

(गुमसुम लड़की)
बेबस लाचार हुए बैठी है ये गुमसुम सी लड़की मर के कई सवाल लिए बैठी है.
जन्म से अंत तक कि कहानी का किये हिसाब बैठी है,बेटे के लालच में क़ातिल परिवार का सितम,कैसे कटी कोख़ में,घबरा के,खुद पे चली कैंची का हिसाब किये बैठी है.
लिए जी रही थी कोख़ में जो हसीन दुनिया के ख्वाब,ये लिए उन सपनों की राख बैठी है.
रोशन चाँद सा चमकना चाहती थी जो,घनी काली रात सा अंधेरा किये खाक बैठी है.
जो खुद साफ करना चाहती थी दुनिया से नफ़रत,देख ख़ुदा वो ख़ुद कोख़ से ही साफ़ हुए बैठी है.
ना रहा इसका कोई अपना जो माँ थी वही कलयुग का शैतान हुए बैठी है.कहे बाप किसको ये जो था बाप वही फेंक आया कचरे पे,देख आँखे खोल ख़ुदा आज ये कचरे के ढेर पे हुए लाश बैठी है,गुमसुम सी लड़की आज बडी उदास बैठी है.
खा रहे कटा फटा जिस्म जानवर इसका किसलिए ये तेरे है शमशान कब्रिस्तान,आज तो तेरी भी इंसानियत जल दफ़न हुए बैठी है.
ना आया फेंकने वाले को रेहम ना आया तुझे रेहम ये तेरे होने पे ही स्वाल लिये बैठी है।
पूछती है खुदा से तेरे नरक में ही दे देता जगह क्यूं मेरी रूह इन भेड़ियों के लालच का बन शिकार बैठी है.
तुं तो कहता रहा नही जला सकता कोई रूह,देख मेरे पास आ के कितने मेरी रूह आग के अंगार लिए बैठी है.

🌹happy Daughters day🌹😣✍️
i hope log ye lines samjhenge . jo log bete k lalach mai ladkiyon ko kokh mai hi मार देते ye ek usi ladki ki आत्मा की कुछ झलक है जो मैंने लिखी ये में कल पूरी नहीं कर पाया था इसे अभी पूरा किया✍️😣.ये ladki ख़ुदा से पूछ रही उसकी जिंदगी से ऐसा खिलवाड़ क्यों.में इस से ज्यादा नहीं likh पाया its very emotionl😥😓😣😣and plz dont kill baby girls before her birth.ladkiyon ko जीने का अधिकार दीजिये.बेटा बेटी एक ही है दोनों भगवान का रूप🙏लड़कियां भी धरती की तरह है इनको ख़त्म करोगे तो रहोगे

156 Love
2 Share

#azaadi #happyindependenceday #Rjvishwakarma #Independence #India #nojoto #Poetry #story #Life #jaihind #Quotes

Azaadi

Angrejo Se To Azaadi Mil Gyi
Apno Se Azaadi Kab Milegi ....?

15 August 1947 Mein Desh Azad hua

148 Love
868 Views