जीवन का असली आंनद भटकने में ही है जब जिम्मेदारी न | हिंदी Poem

"जीवन का असली आंनद भटकने में ही है जब जिम्मेदारी न हो...."

जीवन का असली आंनद भटकने में ही है 
जब जिम्मेदारी न हो....

जीवन का असली आंनद भटकने में ही है जब जिम्मेदारी न हो....

#Life#Goal#search#friends#Redmi#Love#poem

People who shared love close

More like this