खुली आँखों से फिर ख़्वाब देखने लगा हूँ मैं शायद फिर | हिंदी शायरी

"खुली आँखों से फिर ख़्वाब देखने लगा हूँ मैं शायद फिर किसी बड़ी परेशानी में फँसने वाला हूँ ।"

खुली आँखों से फिर ख़्वाब देखने लगा हूँ मैं
शायद फिर किसी बड़ी परेशानी में फँसने वाला हूँ ।

खुली आँखों से फिर ख़्वाब देखने लगा हूँ मैं शायद फिर किसी बड़ी परेशानी में फँसने वाला हूँ ।

खुली #आँखों से फिर #ख़्वाब देखने लगा हूँ मैं
शायद फिर किसी बड़ी #परेशानी में फँसने वाला हूँ ।
#Dream #nozotohindi #Hindi #oneliner #thought #Hindi_Urdu #विचार

People who shared love close

More like this