Kavita Chauhan

Kavita Chauhan

दिल कहता है के जिक्र ना कर जमाने से, अपनी तन्हाई का, अक्सर तोड़ दिया जाता है वो फूल जिसका कोई आस पास रखवाला नहीं होता....🌺 एम.ए. हिन्दी साहित्य विद्यार्थी साहित्य प्रेमी लिखने के लिए चालाक होने की नहीं बल्कि पागल होना पड़ता है।

  • Latest
  • Repost
  • Video

""

"एक दिन की शुक्रगुजार नहीं मां मैं सदा तेरी शुक्रगुजार रहूं, कविता चौहान [निर्जन] तूं व्रत करै मां मेरे खातिर मैं तेरी लंबी उम्र की दुआ करुं"

एक दिन की शुक्रगुजार नहीं मां 
मैं सदा तेरी शुक्रगुजार रहूं,
कविता चौहान [निर्जन]
तूं व्रत करै मां मेरे खातिर 
मैं तेरी लंबी उम्र की दुआ करुं

🥰🥰😘😘
#maa

23 Love
2 Share

""

"सब टाईम देख कर बात करै वा करती कदे कोई दगा नहीं कविता चौहान[निर्जन] इस मतलब भरी दुनिया में सच में मां त घणा कोई सगा नहीं।"

सब टाईम देख कर बात करै
वा करती कदे कोई दगा नहीं
कविता चौहान[निर्जन]
इस मतलब भरी दुनिया में सच में
मां त घणा कोई सगा नहीं।

love u maa

#Woman

22 Love
3 Share

""

"किस्मत पर यकीन नहीं है मुझे कि किस्मत भी कुछ होती है, [कविता चौहान] पर उस वक्त खुद को बड़ी खुशकिस्मत समझती हूं जब अपने मां-पापा को देखती हूं।"

किस्मत पर यकीन नहीं है मुझे कि किस्मत भी कुछ होती है,
[कविता चौहान]
पर उस वक्त खुद को बड़ी खुशकिस्मत समझती हूं जब अपने मां-पापा को देखती हूं।

#HappyDaughter

24 Love
8 Share

#inspirational #Desh ki beti

55 Love
621 Views
3 Share

""

"जिंदगी को जीना तो तुम्हारे साथ था किसी और के साथ तो बस vk गुजारनी पड़ेगी....✍️"

जिंदगी को जीना  तो तुम्हारे साथ था किसी और के साथ तो बस   
vk
गुजारनी पड़ेगी....✍️

 

35 Love