Nojoto App Download
Home
Explore
Popular
Live Shows
Categories
Languages

RSS
babligurjar5789

Babli Gurjar

  • 157Stories
  • 1.3KFollowers
  • 17.0KLove
  • Latest
  • Popular
  • Video

    आती जाती लहरों सी खुशियां होती है आम जिंदगी में पहाड़ सी मुश्किलें भी रेत सी ढह जाती है आम जिंदगी में ना पत्नी लैला सी ना पति मजनूं फिर भी है दोनों खास जिंदगी में कैसे मुकर जाएं मां बाप भाई बहनों से भी होता है लगाव जिंदगी में कोई मुस्कुराना सिखाता है कोई मुश्किलें बढ़ा कर जीतना जिंदगी में किस्मत में लिखे सभी अपनों का होता है अहम किरदार जिंदगी में अगर बड़ी ज़रूरतें से भी बड़े हो जाएं ख्वाब जिंदगी में तो रोक नहीं सकता कोई आपको बनने से खास जिंदगी में बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    आम जिंदगी में

    आम जिंदगी में

    0 views

    मेरा नाम कातिल रख दिया खुद को घायल कहने वालों ने बड़ी ही खामोशी से सज़ा सुनाई मुझे आ कर ख्यालों में मुझे को तो खबर भी ना हुई मेरी गिनती हो गई सितारों में मै खुद को यूं ही भीड़ में शामिल समझती रही हज़ारों में यूं तो मुझसे मिलने को हमेशा हूजूम हाज़िर रहा कतारों मे उसका ही दीदार ना हुआ जो दिखता था अक्सर ख्वाबों में खुलेआम बिकता है मजबूरियों के भाव इंसान बाज़ारों में दस्तूर से तो कभी जज़्बात से शिकार होता है इंसानो में बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    शिकार

    शिकार

    0 views

    जहां तक नजर जाती है सिर्फ तेरी ही सूरत नज़र आती है मेरा वहम हो या छलावा कोई इस कश्मकश में मै रहती हूं खोई खोई बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    छलावा

    छलावा

    0 views

    मजबूरी का शिकार है इंतजार भी यहां सहमी हुई नजर पथराई हुई आंख बेचैनियों के खौफ में खड़े थकते नहीं पांव रोज की आपाधापी में खो गए शहर हो या गांव बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    इंतजार

    इंतजार

    0 views

    मेरे लम्बे थकते हुए इंतजार को कुछ तो राहत दे बदल जाऊंगा मैं भी बदलने की वाजिब वजह तो दे नहीं होता सहन अब तरक्की का ऐसा मंजर तैयार हो जहां हर हाथ बेशर्मी का थामने को खंजर फरेबी मन का शिकार हो इंसानियत होने को है बंजर तबाही की तबियत नहीं पहचानते बने फिरते हो धुरंधर बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    इंतजार

    इंतजार

    0 views

    कुछ दिए भावनाओं के जलाए रखना परिवार की नींव मजबूत रहेगी कुछ दिए इच्छाओं के जलाए रखना स्वयं के स्वाभिमान की कीमत नहीं गिरेगी कुछ दिए स्नेह और प्रीत के जलाए रखना जिंदगी में खुशियां और रिश्तों में मिठास बनी रहेगी कुछ दिए तेज हवाओं में जलाए रखना दियों की एकजुटता हवाओं को हरा भी देगी कुछ दिए उम्मीदों के जलाए रखना रात काली कितनी भी हो सवेरा ला ही देगी बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    कुछ दिए

    कुछ दिए

    0 views

    स्थापित है कुछ मापदंड जो हरेक के अस्तित्व के लिए उनका पालन करना जरूरी होता है सबके लिए आप अपना स्वयं का आंकलन ठीक से कर सकते नहीं किस तरह दूसरों के लिए जज बनते रहते हो फिर भावुक हो सकती हूं बहुत लेकिन कमजोर नहीं जीवन होगा अनमोल अगर हो जाए बेमोल नहीं बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    मापदंड

    मापदंड

    0 views

    शहद जैसा मीठा लगता था शहर कभी जब लालच फरेब घमंड का था कुछ पता नहीं अब शहर के दिन और रात में रहा फर्क नही शहर में सवेरे सोए सोए से और शाम रौनक से भरी। दिन बेतहाशा दौड़ते और रातें भी रहती कुछ कुछ जगी शहर की वैभव विलासिता मौन साधे कैद करती रही बबली गुर्जर ©Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    Babli Gurjar

    #City