Chintan Shastri

Chintan Shastri

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"#OpenPoetry थोड़े थोड़े से हम हर फन मैं मौला हो गए, थोड़े थोड़े से हम हर फन मैं मौला हो गए, ना इसके, ना उसके, हर दर के मुसाफिर हो गए। जाना था इस मोड, उस मोड़ पर मुड़ गए, हर बार राह बदलते गए मंजिल से दूर हो गए। ताश के पत्तो का सजाकर महल हम इतरा गए, थोड़ा किसीको हसा गए, थोड़ा किसीको रुला गए। बनना था सिकन्दर तकदीर का, विदूषक बनके रह गए। थोड़े थोड़े से हम हर फन मैं मौला हो गए। -chintan shastri"

#OpenPoetry  थोड़े थोड़े से हम हर फन मैं मौला हो गए,
थोड़े थोड़े से हम हर फन मैं मौला हो गए,
ना इसके, ना उसके, हर दर के मुसाफिर हो गए।
जाना था इस मोड, उस मोड़ पर मुड़ गए,
हर बार राह बदलते गए मंजिल से दूर हो गए।
ताश के पत्तो का सजाकर महल हम इतरा गए,
थोड़ा किसीको हसा गए, थोड़ा किसीको रुला गए।
बनना था सिकन्दर तकदीर का, विदूषक बनके रह गए।

थोड़े थोड़े से हम हर फन मैं मौला हो गए।

-chintan shastri

#nojotosangam #shabdbindu

20 Love

"Kashmir દેશ મારો આજ એક થયો છે, સંકલ્પનો સાકાર થયો છે. સ્વર્ગ સુગમ સાકાર થયું છે, લુપ્ત અનંત અંધકાર થયું છે. સમાન સાથ સંચાર સમન્વય શાંતિ નું આગમ ધર્યું છે. વહયું રક્ત જ્યાં વિરોનું, માન વઘ્યું આજ એ સિરોનું. શ્વેત ચાદર હવેના મેલી થાશે, પ્રગતિનો ત્યાં પંથ રચાશે. દેશ મારો આજ એક થયો છે... - chintan shastri"

Kashmir  દેશ મારો આજ એક થયો છે, સંકલ્પનો સાકાર થયો છે.
સ્વર્ગ સુગમ સાકાર થયું છે, લુપ્ત અનંત અંધકાર થયું છે.
સમાન સાથ સંચાર સમન્વય શાંતિ નું આગમ ધર્યું છે.
વહયું રક્ત જ્યાં વિરોનું, માન વઘ્યું આજ એ સિરોનું.
શ્વેત ચાદર હવેના મેલી થાશે, પ્રગતિનો ત્યાં પંથ રચાશે.
દેશ મારો આજ એક થયો છે...

- chintan shastri

#kashmir #shabdbindu

15 Love
2 Share

"મળે તો જળ, ના મળે તો મૃગજળ, પ્રેમ એટલે શું? આશાઓ નો એક સમંદર. -Chintan shastri"

મળે તો જળ,
ના મળે તો મૃગજળ,
પ્રેમ એટલે શું?
આશાઓ નો એક સમંદર.

-Chintan shastri

#nojotosangam #shabdbindu #instantwritings #Love #poem

14 Love
1 Share

"में सुपर हीरो हु! मैं सुबह जल्दी उठता हु, मज़दूरों की भांति विद्या पाने जाता हूं। मैं तितलियों को उड़ता देखने की बजाय कागज़ में उलजा हूं। हा! में सुपर हीरो हु! मैं छोटी सी उम्र मैं बड़ेसे बसते के संग स्कूल में जाता हूं।"

में सुपर हीरो हु! 
मैं सुबह जल्दी उठता हु,
मज़दूरों की भांति विद्या पाने जाता हूं।
मैं तितलियों को उड़ता देखने की बजाय कागज़ में उलजा हूं।
हा! में सुपर हीरो हु! 
मैं छोटी सी उम्र मैं बड़ेसे बसते के संग स्कूल में जाता हूं।

Every child is superhero

#poem #Superhero

9 Love
1 Share

"कुछ बातें खुद से भी कर लो, आँखे चार मन से भी कर लो। रिश्ता जिससे जुड़ा सभसे पहले, थोड़ी खबर उसकी भी लेलो, कुछ बातें खुद से भी कर लो। बहोत मनाया औरो को, थोड़ा अपने परम् को माना लो। थोड़ी खुशिया खुदको भी देदो कुछ बातें खुद से भी कर लो, -chintan shastri #shabdbindu"

कुछ बातें खुद से भी कर लो, आँखे चार मन से भी कर लो।
रिश्ता जिससे जुड़ा सभसे पहले, थोड़ी खबर उसकी भी लेलो,
कुछ बातें खुद से भी कर लो। बहोत मनाया औरो को,
थोड़ा अपने परम् को माना लो। थोड़ी खुशिया खुदको भी देदो
कुछ बातें खुद से भी कर लो,

-chintan shastri
#shabdbindu

#poem #thought #shabdbindu

9 Love
1 Share