Nargees Bano Haidarali (Narcissus)

Nargees Bano Haidarali (Narcissus) Lives in Pune, Maharashtra, India

I am an Indian .

https://m.youtube.com/channel/UCEjxkVjeBrVjqQDpD-R58Wg

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video

""

"बस चंद दिनों की बात है... कुछ गलती करके आया हूँ शायद आपको उम्मीद न हो हिम्मत जुटाकर सच लाया हूँ शायद आपको अंदाज़ा न हो ये न कहना हर रोज़ की बात है संभाल लेना मुझे ज़रा बस चंद दिनों की बात है आपकी आँखों में प्यार था कल तक अब उसमें जासूसी नज़र आई हर डाँट में प्यार था कल तक अब उसमें मायूसी नज़र आई ये न समझना हर रोज़ की बात है संभाल लेना मुझे ज़रा बस चंद दिनों की बात है कूदना तो था ही उम्र की इस दरिया में डूबना तो कभी नहीं सिखाया तैर कर पार कर ही लूँगा परवरिश ने है यही सिखाया डूबना तैरना हर रोज़ की बात है संभल लेना मुझे ज़रा बस चंद दिनों की बात है आपकी जासूसी मुझे चौकन्ना कर गयी डाँट भी आपकी डराकर छ चली गयी आपकी मायूसी का हक़दार हु मैं परवरिश मेरी गलतियां बयां कर गयी रूठना मनाना हर रोज़ की बात है संभाल लेना मुझे ज़रा बस चंद दिनों की बात है... :-नर्गिस बानो हैदरअली"

बस चंद दिनों की बात है...

कुछ गलती करके आया हूँ 
शायद आपको उम्मीद न हो
हिम्मत जुटाकर सच लाया हूँ
शायद आपको अंदाज़ा न हो

ये न कहना हर रोज़ की बात है
संभाल लेना मुझे ज़रा 
बस चंद दिनों की बात है

आपकी आँखों में प्यार था कल तक
अब उसमें जासूसी नज़र आई
हर डाँट में प्यार था कल तक
अब उसमें मायूसी नज़र आई

ये न समझना हर रोज़ की बात है
संभाल लेना मुझे ज़रा
बस चंद दिनों की बात है

कूदना तो था ही उम्र की इस दरिया में
डूबना तो कभी नहीं सिखाया
तैर कर पार कर ही लूँगा
परवरिश ने है यही सिखाया
डूबना तैरना हर रोज़ की बात है
संभल लेना मुझे ज़रा
बस चंद दिनों की बात है

आपकी जासूसी मुझे चौकन्ना कर गयी
डाँट भी आपकी डराकर छ चली गयी
आपकी मायूसी का हक़दार हु मैं
परवरिश मेरी गलतियां बयां कर गयी

रूठना मनाना हर रोज़ की बात है
संभाल लेना मुझे ज़रा 
बस चंद दिनों की बात है...

:-नर्गिस बानो हैदरअली

कविता :- बस चंद दिनों की बात है
poem on confession
#nojotohindi#nojotohindiquote#NojotoWODHindiquotestatic #lamp #nojotoPune#nojotoPune

50 Love

""

"शांत रहना एक कला है... शांत रहना एक कला है ऐसा सुना था कहीं अमल करने की कोशिश भी की है ज़बान है , आवाज़ भी है पर बातें खो गयी है कहीं शांत रहना ग़लत नहीं हैं पर गुमसुम न हो जाना कहीं गुमसुम होना ग़लत बात है अपनी आवाज़ ना खो जाना कहीं मन शांत होगा, उससे कुछ बातें होंगी कुछ सवाल होंगे यादें नयी होंगी शांत रहने से कुछ बातें मन में रहेंगी उन बातों का घर बनेगा जिसके दरवाज़े तभी खुलेंगे जब कोई सुननेवाला मिलेगा ना मिला तो मायूस ना होना शांत रहने पर ख़ामोश ना होना उस घर का भार मन भी ना उठा पाये तो एक एक करके कागज़ पर उतार देना ... :- नर्गिस बानो हैदरअली"

शांत रहना एक कला है...


शांत रहना एक कला है
ऐसा सुना था कहीं 
अमल करने की कोशिश भी की है
ज़बान है , आवाज़ भी है
पर बातें खो गयी है कहीं

शांत रहना ग़लत नहीं हैं
पर गुमसुम न हो जाना कहीं
गुमसुम होना ग़लत बात है
अपनी आवाज़ ना खो जाना कहीं

मन शांत होगा,
उससे कुछ बातें होंगी
कुछ सवाल होंगे
यादें नयी होंगी

शांत रहने से कुछ बातें मन में रहेंगी 
उन बातों का घर बनेगा 
जिसके दरवाज़े तभी खुलेंगे
जब कोई सुननेवाला मिलेगा

ना  मिला तो मायूस ना होना
शांत रहने पर ख़ामोश ना होना
उस घर का भार
मन भी ना उठा पाये तो
एक एक करके कागज़ पर उतार देना ...

:- नर्गिस बानो हैदरअली

कविता :- शांत रहना एक कला है
poem on silence nature
#nojotohindi #nojotohindi #nojotopoetryhindi #nojotoPune#nojotoPune

45 Love

""

"सपना.. ख्याली दुनिया की है सैर आँख बंद होते शुरू हो जाती है कहते है लोग इसे सपना जिसमे मिल जाता कोई अपना इस सैर पर जब रूह भटकता दिल उसके साथ चल पड़ता नींद में है बंद आँखे मेरी तब राह रूह को दिल दिखलाता न जाने किस रास्ते चलते दोनों आँख खुलते कुछ याद न रहता धुँधली सी छाप उस सपने की उस फ़रिश्ते का चेहरा बनाता मुस्कान लाकर मेरे चेहरे पर ख़ुद ही ओझल हो जाता है इजाज़त दिल को बस साथ जाने की रूह के ग़र दिमाग को होती इजाज़त पूरी सैर याद कर आता याद हो जाती पूरी सैर तो वह फरिश्ता , इंसान बन जाता हक़ीक़त की इस दुनिया में सिर्फ नाम से ढूंढ लेती उसे पर अनपढ़ सा दिल ये मेरा ना लिख पाया नाम उसका इस खूबसूरत सैर की धुँधली झलक से है लगाव मुझे उन सपनो में रोज़ खोने से कोई भी मत रोको मुझे .. :- नर्गिस बानो हैदरअली"

सपना..

ख्याली दुनिया की है सैर
आँख बंद होते शुरू हो जाती है
कहते है लोग इसे सपना
जिसमे मिल जाता कोई अपना


इस सैर पर जब रूह भटकता
दिल उसके साथ चल पड़ता
नींद में है बंद आँखे मेरी
तब राह रूह को दिल दिखलाता

न जाने किस रास्ते चलते दोनों
आँख खुलते कुछ याद न रहता
धुँधली सी छाप उस सपने की
उस फ़रिश्ते का चेहरा बनाता
मुस्कान लाकर मेरे चेहरे पर
ख़ुद ही ओझल हो जाता 

है इजाज़त दिल को बस
साथ जाने की रूह के
ग़र दिमाग को होती इजाज़त
पूरी सैर याद कर आता

याद हो जाती पूरी सैर तो
वह फरिश्ता , इंसान बन जाता

हक़ीक़त की इस दुनिया में
सिर्फ नाम से ढूंढ लेती उसे
पर अनपढ़ सा दिल ये मेरा 
ना लिख पाया नाम उसका

इस खूबसूरत सैर की
धुँधली झलक से है लगाव मुझे
उन सपनो में रोज़ खोने से
कोई भी मत रोको मुझे ..


:- नर्गिस बानो हैदरअली

कविता :- सपना
poem on beautiful dreams
#nojotohindi#NojotoWODHindiquotestatic

38 Love
1 Share

""

"क़िताबी बातें "जीवन हमारा नश्वर है कर दे सबपर कुरबान" ये बाते सिर्फ क़िताबी रहे क्या करोगे खुदपर नाज़? गोद लेले ए बाते हमें अपनी राह पर चलना सीखा इस परवरिश की भूख है हमें हमें ज़िंदगी जीना सीखा उस नगरी में ले चल हमें जहाँ बंद दरवाज़े नही , तो कुछ दहलीज़ें नहीं आसमानो के नीचे सुला दे हमें अहमियत उतरन की बता दे हमें करेंगे क्या संभालकर चीज़ों को हम संग ले जाने की इजाज़त जब कब्र न दे क़ीमत ही नही इस उतरन की कदर तो देख ही लेंगे उन आँखों में "जीवन हमारा नश्वर है कर दे सबपर कुरबान" ये बाते सिर्फ क़िताबी रहे नहीं होगा हमें रास... :-नर्गिस बानो हैदरअली"

क़िताबी बातें

"जीवन हमारा नश्वर है
कर दे सबपर कुरबान"
ये बाते सिर्फ क़िताबी रहे
क्या करोगे खुदपर नाज़?

गोद लेले ए बाते हमें
अपनी राह पर चलना सीखा
इस परवरिश की भूख है हमें
हमें ज़िंदगी जीना सीखा

उस नगरी में ले चल हमें
जहाँ बंद दरवाज़े नही , तो कुछ दहलीज़ें नहीं
आसमानो के नीचे सुला दे हमें
अहमियत उतरन की बता दे हमें

करेंगे क्या संभालकर चीज़ों को हम
संग ले जाने की इजाज़त जब कब्र न दे
क़ीमत ही नही इस उतरन की
कदर तो देख ही लेंगे उन आँखों में

"जीवन हमारा नश्वर है
कर दे सबपर कुरबान"
ये बाते सिर्फ क़िताबी रहे
नहीं होगा हमें रास...

:-नर्गिस बानो हैदरअली

कविता :- क़िताबी बातें
#nojotohindi#nojotohindikavita#NojotoWODHindiquotestatic

36 Love

""

"मैं हूँ विश्वास तेरा... तेरे साथ ही जन्मा मैं तेरे साथ ही हस्ता खेला मैं गहरे रिश्ते के हम साथी जानता हूँ तुझे मैं भली - भाँती नन्हा सा दिल है तू मेरा तुझ बिन रह जाऊँगा अकेला बस संग रहने की ख़ातिर तेरे मान लेता हूँ हर मनमानी तेरी मनमानियां थोड़ी बढ़ गयी हैं हाथ छोटे मेरे पड़ गए हैं थाम न सकूँगा तेरी उड़ाने बन गए जो नए यार तेरे मैं था विश्वास तेरा मैं था विश्वास तेरा नए विश्वास की जो यारी है विश्वास नहीं वो अपेक्षाएँ है अपेक्षाएँ करनी है तो खुद से कर ले सपने देख ले बड़े पर संग मुझको लेले वो यारी नहीं जो छोड़ चला जाऊँ मैं वो हूँ जो अपेक्षाओं को विश्वास बना जाऊ मैं हु विश्वास तेरा मैं हूँ विश्वास तेरा छोड़ दे अपेक्षाओं की डगर लौट आ , अब और मत भटक कर भी ले अब प्यार मुझसे नहीं रूठा था मैं कभी तुझसे मैं हु विश्वास तेरा मैं हूँ विश्वास तेरा... :- नर्गिस बानो हैदरअली"

मैं हूँ विश्वास तेरा...


तेरे साथ ही जन्मा मैं 
तेरे साथ ही हस्ता खेला मैं
गहरे रिश्ते के हम साथी
जानता हूँ तुझे मैं भली - भाँती

नन्हा सा दिल है तू मेरा
तुझ बिन रह जाऊँगा अकेला
बस संग रहने की ख़ातिर तेरे
मान लेता हूँ हर मनमानी तेरी

मनमानियां थोड़ी बढ़ गयी हैं
हाथ छोटे मेरे पड़ गए हैं
थाम न सकूँगा तेरी उड़ाने
बन गए जो नए यार तेरे

मैं था विश्वास तेरा
मैं था विश्वास तेरा

नए विश्वास की जो यारी है
विश्वास नहीं वो अपेक्षाएँ है

अपेक्षाएँ करनी है तो खुद से कर ले
सपने देख ले बड़े
पर संग मुझको लेले
वो यारी नहीं जो छोड़ चला जाऊँ
मैं वो हूँ जो अपेक्षाओं  को विश्वास बना जाऊ

मैं हु विश्वास तेरा
मैं हूँ विश्वास तेरा

छोड़ दे अपेक्षाओं की डगर
लौट आ , अब और मत भटक
कर भी ले अब प्यार मुझसे
नहीं रूठा था मैं कभी तुझसे

मैं हु विश्वास तेरा 
मैं हूँ विश्वास तेरा...

:- नर्गिस बानो हैदरअली

कविता :- मैं हूँ विश्वास तेरा
poem on self confidence
#selfconfidence#nojotohindipoetry#nojotohindi#NojotoWODHindiquotestatic#Youtube

34 Love