Ekta Kumari

Ekta Kumari

मजबूर सही पर वक़्त से हारना नहीं तुम...

  • Latest Stories

उस चमकते हुए #सूरज की #धूप में जल जाते हैं सभी,
तुम उस आग में तप कर, एक बार फिर से जीना सीखो,
#ऊँची #उड़ान भर कर डर से लौट जाते हैं सभी,
तुम #आसमां में उड़ कर उसमें गुम हो जाना सीखो,
बेशक है पैरों में बेड़ियां बंधी, #जख्मी पैरों तुम दुबारा दौड़ जाना तो सीखो,
#मजबूर सही पर वक़्त से हारना नहीं तुम,
एक बार इस #वक़्त को तुम भी हराना तो सीखो,
उजालों में तो हर लम्हा साथ है ज़माना,

600 Love
25 Share

#झूठी शान के #परिंदे ही ज्यादा फड़फड़ाते हैं ,
#तरक्की के बाज़ की #उड़ान में कभी आवाज नहीं होती.

#आशिकी #शुभरात्रि #हंसिये_और_हंसाइए

528 Love
4 Share