JALAJ KUMAR RATHOUR

JALAJ KUMAR RATHOUR Lives in Agra, Uttar Pradesh, India

कभी उसकी घडी ने कभी उसकी जुल्फो ने हर बार बेईज्जत किया हमे ए जलज भरी महफिलो में .....#जलज_कुमार

https://www.blogger.com/blogger.g?blogID=592702054934352507#allposts/postNum=0

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"ये जो आभार है मुझ पर मेरी साँसों का, ये असर है मेरी माँ के उपवासों का, .... #जलज #NojotoQuote"

ये जो आभार है मुझ पर मेरी साँसों का, 
ये असर है मेरी माँ के उपवासों का, 
.... #जलज #NojotoQuote

ये जो आभार है मुझ पर मेरी साँसों का,
मित्रो ये असर है मेरी माँ के उपवासों का,
....
#जलज

31 Love

"RELATIONSHIP)(12) -------------------------------------= HATE(4) EGO(3) .......Jalaj... #NojotoQuote"

RELATIONSHIP)(12) 
-------------------------------------= HATE(4)
    EGO(3) 

.......Jalaj... #NojotoQuote

RELATIONSHIP)(12)
----------------------------------- = HATE(4) =/= LOVE
EGO(3)

25 Love
3 Share

"इस रंग बिरंगे जीवन में ख़्वाहिश तुझसे ए खुदा और कोई ना, बस मुकम्मल हो मुझे, उनके गालों का #गुलाल होना ..... #जलज #NojotoQuote"

इस रंग बिरंगे जीवन में ख़्वाहिश तुझसे ए खुदा और कोई ना,
बस मुकम्मल हो मुझे,
उनके गालों का #गुलाल होना
..... #जलज #NojotoQuote

ख़्वाहिश तुझसे ए खुदा और कोई ना
बस मुकम्मल हो मुझे
उनके गालों का गुलाल होना
.....
#जलज

21 Love

"देख उनकी उड़ती जुल्फो को उस रात, कदमो मे उनके झुक गई थी सारी कायनात, हम कैसे संभालते ए जलज अपने जज्बात, वो हर्फ़ दर हर्फ़ खोल रही थी, अपने सारे राज थांम कर मेरा हाथ... . #जलज_राठौर #NojotoQuote"

देख उनकी उड़ती 
जुल्फो को उस रात,
कदमो मे उनके झुक 
गई थी सारी कायनात,
हम कैसे संभालते ए जलज 
अपने जज्बात,
 वो हर्फ़ दर हर्फ़ खोल रही थी,
 अपने सारे राज 
थांम कर मेरा हाथ...
. #जलज_राठौर #NojotoQuote

देख उनकी उड़ती जुल्फो को उस रात
कदमो मे उनके झुक गई थी सारी कायनात
हम कैसे संभालते ए जलज अपने जज्बात
वो हर्फ़ दर हर्फ़ खोल रही थी
अपने सारे राज थांम कर मेरा हाथ....
#जलज_राठौर

20 Love
1 Share

"बेटा सरहद पर गया है जिस माँ का सुना है वो आज कल मंदिरों मे दिया जलाती है.... दरवाजा खुला रखती है घर का और फोन की घन्टी बजने पर सहम जाती हैं ..... #जलज #भारत_के_वीरो #NojotoQuote"

बेटा सरहद पर गया है जिस माँ का
सुना है वो आज कल मंदिरों मे दिया जलाती है.... 
दरवाजा खुला रखती है घर का
और फोन की घन्टी बजने पर सहम जाती हैं
..... #जलज
#भारत_के_वीरो #NojotoQuote

बेटा सरहद पर गया है जिस माँ का
सुना है वो आज कल मंदिरों मे दिया जलाती है....
दरवाजा खुला रखती है घर का
और फोन की घन्टी बजने पर सहम जाती हैं
.....
#जलज
#भारत_के_वीरो

20 Love