anil.gangwar.1994000

anil.gangwar.1994000 Lives in Pilibhit, Uttar Pradesh, India

I am a teacher and a poet

anil.gangwar.1994000@gmail.com

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video

शेरररररररर

45 Love
3.6K Views

""

"मेघो की गर्जन से , गीतो के सृजन से । रूदें गले की तर्जन से मोती बिखरे दर्जन से । बारिश के पैरहन से यादो के सतरंग से। खामोशी मांझन से वाह वाह और अर्जन से ।। मंजिल बिल्कुल सीधी है । बस तुम तक अपनी परिधि है ।। गंगवार अनिल #NojotoQuote"

मेघो की गर्जन से ,         गीतो के सृजन से ।
रूदें गले की तर्जन से मोती बिखरे दर्जन से ।
बारिश के पैरहन से        यादो के सतरंग से।
 खामोशी मांझन से वाह वाह और अर्जन से ।।
मंजिल बिल्कुल सीधी है ।
बस तुम तक अपनी परिधि  है ।।
गंगवार अनिल 
 #NojotoQuote

शायरी

44 Love
1 Share

इश्क ये नही कि एक वक्त पर ठहर जाये ।
इश्क तो ये है सांस साथ जाना चाहिए ।।।
गंगवार अनिल

41 Love
3.7K Views
1 Share

""

"Natural Morning जब हमारे ही हमको सताने लगे । वक्त बेवक्त जो याद आने लगे । वियोग की अग्नि में तपते झुलसते। गीत विरह के हम गुनगुनाने लगे ।। गंगवार अनिल #NojotoQuote"

Natural Morning जब हमारे ही हमको सताने लगे ।
वक्त बेवक्त जो याद आने लगे  ।
 वियोग की अग्नि में तपते झुलसते।
गीत विरह के हम गुनगुनाने लगे ।।
गंगवार अनिल 
 #NojotoQuote

शायरी

41 Love
1 Share

""

"#DearZindagi क्या बताऊं कैसे तुमसे दूर हूं मै । तुम ये न समझना कि मगरूर हूं मै । मन है कि करवटें तुम्हारी बाहों में बदलें । पर तकदीर के कारण मजबूर हूं मैं ।। प्रियंका राठौर #NojotoQuote"

#DearZindagi क्या बताऊं कैसे तुमसे दूर हूं मै ।
तुम ये न समझना कि मगरूर हूं मै ।
मन है कि करवटें तुम्हारी बाहों में बदलें ।
पर तकदीर के कारण मजबूर हूं मैं ।।
प्रियंका राठौर  #NojotoQuote

शायरी

40 Love
2 Share