aakash kumar

aakash kumar Lives in Patna, Bihar, India

a soul with a pen to write and start again... # follow me on insta@definedsoul2020 # effort never dies...it gives results or experience to get the results..

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"ख़्वाब और ख़्याल मन चंचल बड़ा ना सुने दिल की आवाज़ , हर पल बदलने का है बना चुका रिवाज़, कभी ख्वाबों में तो कभी ख्यालों में, उलझा रहे क्यों जाने इन्हीं सवालों में, अभी तो ठहरा यही पे जाने क्या होगा आगाज़, कोई ना पढ़ पाया इसका बदलता हुआ मिजाज़।।"

ख़्वाब और ख़्याल मन चंचल बड़ा ना सुने दिल की आवाज़ ,
हर पल बदलने का है बना चुका रिवाज़,
कभी ख्वाबों में तो कभी ख्यालों में,
उलझा रहे क्यों जाने इन्हीं सवालों में,
अभी तो ठहरा यही पे जाने क्या होगा आगाज़,
कोई ना पढ़ पाया इसका बदलता हुआ मिजाज़।।

चंचल मन।।

26 Love

""

"दर्द और दवा इस दर्द की क्या दवा करूं जो मिलती नहीं किताबों में, ये मंज़र ऐसा है गुमशुदा तन्हाई ही बस जवाबों में, जवाबों में कई लम्हें है जो साथ गुजारे थे दरबदर, अब मुलाकात के वास्ते तू आता है बस मेरे ख्वाबों में।।"

दर्द और दवा इस दर्द की क्या दवा करूं जो मिलती नहीं किताबों में,
ये मंज़र ऐसा है गुमशुदा तन्हाई ही बस जवाबों में,
जवाबों में कई लम्हें है जो साथ गुजारे थे दरबदर,
अब मुलाकात के वास्ते तू आता है बस मेरे ख्वाबों में।।

@secret shine @Silence_killer___❤️ @Pratibha Tiwari(smile)🙂 @Prita चतुर्वेदी 🖋📕🙏 @Gauri Gupta

24 Love
1 Share

""

"कभी ज़रा तुम्हे वक़्त मिले तो, एक शाम तुम्हारे साथ गुजारूं, एक बार तेरी हां की देरी, फिर दिल और जान तुझपे दे वारूं, खोने का डर भी लगा मुझे, कैसे व्याकुल इस मन को संभारू, जो जेहन में मेरे इश्क़ बसा, कैसे ज़ज्बातों को शब्दों में उतारूं, हर वक़्त तू बसा ख्यालों में,हर रात को तेरी तस्वीर निहारूं, कभी ज़रा तुम्हे वक़्त मिले तो , एक शाम तुम्हारे साथ गुजारूं।।"

कभी ज़रा तुम्हे वक़्त मिले तो, एक शाम तुम्हारे साथ गुजारूं,
एक बार तेरी हां की देरी, फिर दिल और जान तुझपे दे वारूं,
खोने का डर भी लगा मुझे, कैसे व्याकुल इस मन को संभारू,
जो जेहन में मेरे इश्क़ बसा, कैसे ज़ज्बातों को शब्दों में उतारूं,
हर वक़्त तू बसा ख्यालों में,हर रात को तेरी तस्वीर निहारूं,
कभी ज़रा तुम्हे वक़्त मिले तो , एक शाम तुम्हारे साथ गुजारूं।।

एक शाम बस।।

20 Love

""

"एक शख़्स है दिल के करीब,बस दूरियां है कुछ खास हमारे, खामोशी में भी एक आस छुपा है,ये सोच ज़िंदा है आस हमारे, हम गलत नहीं बस कदर है करते,तेरी किसी अदा के दीवाने हैं, तुझे चाहते हुए भी ज़ाहिर नहीं करते,ऐसे शर्मीले है अल्फ़ाज़ हमारे।।"

एक शख़्स है दिल के करीब,बस दूरियां है कुछ खास हमारे,
खामोशी में भी एक आस छुपा है,ये सोच ज़िंदा है आस हमारे,
हम गलत नहीं बस कदर है करते,तेरी किसी अदा के दीवाने हैं,
तुझे चाहते हुए भी ज़ाहिर नहीं करते,ऐसे शर्मीले है अल्फ़ाज़ हमारे।।

when u like someone but Don't want to lose her..

18 Love
1 Share

""

"लम्हें आज फिर से उन लम्हों की याद रुला गई, जो गुजरते वक़्त के साथ मुझे कहीं भुला चुकी है, चाहता हूं कि वो पल ना सही पर इंसान तो मिले कभी, पर वक़्त की कश्मकश कबका उस शख्स को सुला चुकी है।"

लम्हें   आज फिर से उन लम्हों की याद रुला गई,
जो गुजरते वक़्त के साथ मुझे कहीं भुला चुकी है,
चाहता हूं कि वो पल ना सही पर इंसान तो मिले कभी,
पर वक़्त की कश्मकश कबका उस शख्स को सुला चुकी है।

देर हो चुकी है।।

15 Love
1 Share