Amit Kumar Shaw

Amit Kumar Shaw

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो, न जाने किस गली में जिंदगी की शाम हो जाए..

  • Latest Stories

ठोकरें खा कर भी ना संभले तो मुसाफ़िर का नसीब,
वरना पत्थरों ने तो अपना फर्ज़ निभा ही दिया ।

314 Love
10 Share

यदि आप वही करते हैं, जो आप हमेशा से करते आये हैं
तो आपको वही मिलेगा, जो हमेशा से मिलता आया है !
- टोनी रॉबिंस

227 Love
1 Share

#उजाले अपनी #यादों के हमारे साथ रहने दो,
न जाने किस #गली में #जिंदगी की #शाम हो जाए.

264 Love
4 Share

#किस्मत ने जैसा #चाहा वैसे ढल गए हम,
बहुत #संभल के चले फिर भी #फिसल गए #हम,
किसी ने #विश्वास तोड़ा तो किसी ने दिल,
और #लोगों को लगा की #बदल गए हम.

247 Love
3 Share

#आँसू जानते हैं कौन अपना है, तभी अपनों के आगे निकलते हैं,
#मुस्कुराहट का क्या है, #गैरों से भी #वफा कर लेती है.

239 Love
7 Share