indira

indira Lives in Sikar, Rajasthan, India

please number mang ke koi sarminda na kare

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video

""

"रिश्ता चाहे दोस्ती का हो या हो प्यार का बस रिश्ता दिल से बनाना चाहिए दिमाग से बनाए गए रिश्ते अक्सर अपना काम निकल जाने के बाद साथ छोड़ दिया करते हैं मग़र दिल से बने रिश्ते हमेशा साथ रहते हैं ( इंदिरा)"

रिश्ता चाहे दोस्ती का हो या हो प्यार का 
बस रिश्ता दिल से बनाना चाहिए
दिमाग से बनाए गए रिश्ते
अक्सर
अपना काम निकल जाने के बाद साथ छोड़ दिया करते हैं
मग़र 
दिल से बने रिश्ते हमेशा साथ रहते हैं ( इंदिरा)

#dilbechara

164 Love
1 Share

""

"आसमां में उड़ने की ख्वाइश नही है मेरी ज़मी पर रह कर कुछ हासिल कर लूँ बस इतनी ही चाहत है मेरी ( इंदिरा)"

आसमां में उड़ने की ख्वाइश नही है मेरी
ज़मी पर रह कर कुछ हासिल कर लूँ
बस इतनी ही चाहत है मेरी ( इंदिरा)

#DesertWalk

159 Love

""

"आखिर हर बार परीक्षा सच्चे लोगो की ही क्यों होती है? ईमानदारी से काम करने वालो को क्यों परेशान किया जाता है झूठो और बेईमान लोगो का कोई बाल भी बांका नही कर सकता और सच्चे और ईमानदार लोगो को अपनी ईमानदारी का सबूत क्यों देना पड़ता है? जब इन्सान गलत कामो में साथ ना दे तो लोगो को पसंद नही आते ईमानदार लोग हर जगह ईमानदार लोगो को आखिर क्यों परेशान किया जाता है?"

आखिर हर बार परीक्षा सच्चे लोगो की ही क्यों होती है?
 ईमानदारी से काम करने वालो को क्यों परेशान किया जाता है
झूठो और बेईमान लोगो का कोई बाल भी बांका नही कर सकता
और सच्चे और ईमानदार लोगो को अपनी ईमानदारी का सबूत क्यों देना पड़ता है?
 जब इन्सान गलत कामो में साथ ना दे तो लोगो को पसंद नही आते ईमानदार लोग 
हर जगह ईमानदार लोगो को आखिर क्यों परेशान किया जाता है?

#NightPath

157 Love

""

"रोज रोज बलात्कार जैसे संगीन जुर्म की खबरें पढ़ पढ़ कर अब तो दिमाग हिलने लगा है आखिर इन्सान की समझ और सोचने समझने की शक्ति को हो क्या गया है? इन हैवानों की हैवानियत ने तो अब छोटी छोटी मासूम बच्चियों को भी नही छोड़ा है बलात्कार का शिकार सबसे ज्यादा नाबालिक लडकिया होती है और शिकारी भी नाबालिक ही सबसे ज्यादा होते हैं क्योंकि नाबालिक होने पर अपराधी कठोर सजा से बच जाते हैं कुछ महीने बाल सुधार घर में रहकर फिर से आजाद हो जाते हैं इन हैवानों की हैवानियत ने छोटी मासूम बच्चियों से लेकर 90 वर्ष की वृद्धा तक को नही छोड़ा है हवस क्या इन्सान के दिमाग पर इतनी हावी हो जाती है कि इन्सान से उसकी इंसानियत मर्यादा सब कुछ भुला देती है?"

रोज रोज बलात्कार जैसे संगीन जुर्म की खबरें पढ़ पढ़ कर 
अब तो दिमाग हिलने लगा है
आखिर इन्सान की समझ और सोचने समझने की शक्ति को हो क्या गया है?
इन हैवानों की हैवानियत ने तो अब छोटी छोटी मासूम बच्चियों को भी नही छोड़ा है
बलात्कार का शिकार सबसे ज्यादा नाबालिक लडकिया होती है
और शिकारी भी नाबालिक ही सबसे ज्यादा होते हैं
क्योंकि नाबालिक होने पर अपराधी कठोर सजा से बच जाते हैं
कुछ महीने बाल सुधार घर में रहकर फिर से आजाद हो जाते हैं
इन हैवानों की हैवानियत ने छोटी मासूम बच्चियों से लेकर 90 वर्ष की वृद्धा तक को नही छोड़ा है
हवस क्या इन्सान के दिमाग पर इतनी हावी हो जाती है
कि इन्सान से उसकी इंसानियत मर्यादा सब कुछ भुला देती है?

#InspireThroughWriting

156 Love

""

"मन करता है इस भीड़ भाड़ से दूर चली जाऊ मै जहाँ ना कोई मुझे तलाश सके अकेली रहूं उस जगह जहाँ ना किसी की बाते दिल पर लगे और ना ही दिल और दिमाग के बीच द्वन्द चले सबको सुकून देते देते मेरा सुकून कही खो गया है अब तलाश है मुझे उस जगह की जहाँ मुझे सुकून मिले"

मन करता है इस भीड़ भाड़ से दूर चली जाऊ मै
जहाँ ना कोई मुझे तलाश सके
अकेली रहूं उस जगह जहाँ ना किसी की बाते दिल पर लगे
और ना ही दिल और दिमाग के बीच द्वन्द चले
सबको सुकून देते देते मेरा सुकून कही खो गया है
अब तलाश है मुझे उस जगह की जहाँ मुझे सुकून मिले

#StreetNight

149 Love