tags

Best nostalgic Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best nostalgic Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 28 Followers
  • 30 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"Memories always the little ones glowing hot , changing situations at every spot changing priorities are making the clot emotions fill the slot. fights and miles all make the heart cries sacrifices and silent apologies all make the bond ties heart is all that rain and what fail is called brain nightouts are in styles , all what change are those files. the bench on which they sat with innocent heart. hacked,scratched and mangled still lies in school apart."

Memories always   the little ones glowing hot ,
changing situations at every spot
changing priorities are making the clot 
emotions fill the slot.


fights and miles all make the heart cries
sacrifices and silent apologies 
all make the bond ties
heart is all that rain and 
what fail is called brain
nightouts are in styles ,
all what change are those files.

the bench on which they sat with innocent heart.
hacked,scratched and mangled
still lies in school apart.

#School #farewell #Memories #nostalgic

133 Love
3 Share

"बड़ी आलिशान कोठी रही होगी की पंथजू रहा करते थे बड़े बड़े दरवाजे, उन से भी बड़ी खिड़कियाँ और झाँपती हुई टीन की असमानी छत किसी ने एक बार कमरे गिनने की कोशिश की थी कहते हैं कि वो "भभरी" गया मोहल्ले के शादी ब्याह में जब कोठी में जनवासा पसर जाता तो कुछ सिंदबादी जवान कमरों की गिनती करने को गोते लगाते और अक्सर फ्रूट क्रीम के भगोने के साथ पाए जाते चाल ढाल जैसी भी रही हो पर कोठी थी तो धर्मात्मा वो बारिश में छतरी बन जाती, तो धूप में छांव और कई बार बर्फानी सर्दियों में वो पव्वे की गर्मी का एहसास देती थी उसके सामने बने "पैरापिट" कभी आरामगाह बन जाते थे तो कभी सब्बल कई बार मैंने वहाँ थकान को केंचुली उतारते देखा था सुना है उस कोठी पर अब कानून का कब्ज़ा है और आम जनता का जाना गैरकानूनी क्या पता मिलॉड भी कभी कमरे गिनते गिनते "भभरी" जाते हों"

बड़ी आलिशान कोठी रही होगी
की पंथजू  रहा करते थे

बड़े बड़े दरवाजे, उन से भी बड़ी खिड़कियाँ
और झाँपती हुई  टीन की असमानी छत
किसी ने एक बार कमरे गिनने की कोशिश की थी
कहते हैं कि वो "भभरी" गया

मोहल्ले के शादी ब्याह में 
जब कोठी में जनवासा पसर जाता 
तो कुछ सिंदबादी जवान 
कमरों की गिनती करने को गोते लगाते 
और अक्सर फ्रूट क्रीम के भगोने के साथ पाए जाते 

चाल ढाल जैसी भी रही हो पर कोठी थी तो धर्मात्मा 
वो बारिश में छतरी बन जाती, तो धूप में छांव 
और कई बार 
बर्फानी सर्दियों में वो पव्वे की गर्मी का एहसास देती थी 

उसके सामने बने "पैरापिट" 
कभी आरामगाह बन जाते थे तो कभी सब्बल 
कई बार मैंने वहाँ थकान को केंचुली उतारते देखा था 

सुना है उस कोठी पर अब कानून का कब्ज़ा है 
और आम जनता का जाना गैरकानूनी 
क्या पता मिलॉड भी कभी 
कमरे गिनते गिनते "भभरी" जाते हों

सुकून का शहर
2. पंत सदन

#kavishala #hindinama #tassavuf #skand #nainital #nostalgic #pant_sadan #sukoon_ka_shahar #सुकून_का_शहर

26 Love
2 Share

".................... #NojotoQuote"

.................... #NojotoQuote

Goooooooooooood Morrrrrrrrrrrnnnnnnnnnning Frrrrrrrrriends. Aaj samay hai apne childhood ke school day's ko yaad karne ka.
🕗🕗🕗🕗🕗🕗🕗🕗🕗🕗🕗
90s का दशक मेरे हिसाब से सब से खूबसूरत समय रहा था। क्योंकि उस समय पैदा हुए सभी बच्चों ने जमाने के बनते हुए देखा था। उस समय के बच्चे बहुत ही खुशनसीब रहे क्योंकि वो आज की जेनेरेशन की तरह मोबाइल के गुलाम नहीं रहे। उन्होंने अपनी ज़िंदगी को खुल कर जिया। तो चलिए मैं नीरज कुमार आप सब को लेकर चलता हूँ उसी समय में। हर वो याद जिसे आप भुला चुके हैं फिर से उन्हें याद करने का।
तो चलिए अब आरंभ करते हैं इस सफर का।

1. आरंभ करते हैं स्कूल की यादों से। क्लास की शुरुआत गुड़ मोर्निंग टीचर से होती थी कहा जाए तो सभी का favorite moment होता था। एक बड़ा सा बस्ता जिसे अपनी पेंट संभालते हुए उठाना पड़ता था। काले या सफेद रंग के action के जूते फिर वही TV विज्ञापन का गाना गाते हुए स्कूल जाना। पानी की थर्मस सभी के पास नहीं होती थी। याद है आप सब को जब वो जेमेट्री बॉक्स सभी का सपना हुआ करता था जिसमें ढेर सारा सामान पहले से रहता था। नटराज कंपनी की लाल और काले रंग की पेंसिल, रंग बिरंगे पेंसिल कलर्स और रबड़। लेकिन वो रबड़ कभी खत्म नहीं होती थी क्योंकि बीच में ही खो जाती थी। वो वाली पेंसिल याद है जिसके पीछे रबड़ लगी रहती यही। अरे वही जिसे चबा चबा कर निकाल देते थे। शार्पनर में से ब्लेड निकाल कर इस्तेमाल करने वालों का अलग ही टशन रहता था। एक बात हमेशा दिमाग में घूमती रहती थी कि अगर क्लास की छत का पँखा गिरेगा तो किस पर गिरेगा। कॉपी के आखरी पन्ने पर कभी पढ़ाई का काम नहीं होता था क्योंकि वो सिर्फ flames खेलने के लिए होता था। इस खेल से decide करते थे किससे किसका क्या रिश्ता होगा। जब लड़कों का आपस का आपस में sister का जाता था तो अजब ही रंग होता था। जिसे पसंद करते थे जब उसके साथ Love या Marriage आ जाता था तो दिल इतना खुश होता था कि दिन भर खुशी से चेहरा खिला रहता था। टीचर का दिया होमवर्क क्लास में ही पूरा करते थे। जिस दिन कॉपी चेक होनी होती थी उस दिन टीचर को कहते थे mam कॉपी घर में भूल गया। कुछ तो छुट्टी ही कर लेते थे। अफवाह थी कॉपी में मोर पंख रखने से सब जल्दी याद होता है साथ में वो एक से दो हो जाता है। बहुत बार कोशिश की मगर कभी भी एक से दो नहीं हुआ। पेंसिल के छिलकों से कई बार रबड़ भी बनाने की कोशिश की। मुझे याद है एक बार होमवर्क ना करने के कारण लड़कियों के साथ बिठा दिया था सच कहूँ बहुत शर्म आती थी। आजकल तो लड़के बहाने ढूंढते हैं। होमवर्क नहीं करने पर हाथ खड़े कर के क्लास के बाहर खड़ा कर देते थे।
🕝🕝🕝🕝🕝🕝🕝🕝🕝🕝🕝
#Nojoto #NojotoPoetry #Childhood #nostalgic #Poetry #kavita

38 Love
1 Share

"#NojotoVideo #NojotoVoice"

#NojotoVideo #NojotoVoice

Short Story.. Lost Love.. Memories
#nojotovideo #lostlove #Memories #nostalgic #rainyday

11 Love
48 Views

"जिन्दगी एक जुआ है, जिसने जिसको जितना चाहा वो उससे उतना ही दूर हुआ है। ©Sanoj_roy #NojotoQuote"

जिन्दगी एक जुआ है,
जिसने जिसको जितना चाहा
वो उससे उतना ही दूर हुआ है।

©Sanoj_roy  #NojotoQuote

#Nojoto #Love #emptiness #HeartBreak #nostalgic #crsuh #sanojroy

27 Love