Best Emotionalhindiquotestatic Stories

  • 66 Followers
  • 689 Stories

Suggested Stories

Best Emotionalhindiquotestatic Stories, Status, Quotes, Shayari, Poem, Videos on Nojoto. Also Read about Emotionalhindiquotestatic Quotes, Emotionalhindiquotestatic Shayari, Emotionalhindiquotestatic Videos, Emotionalhindiquotestatic Poem and Emotionalhindiquotestatic WhatsApp Status in English, Hindi, Urdu, Marathi, Gujarati, Punjabi, Bangla, Odia and other languages on Nojoto.

  • Latest Stories
  • Popular Stories
देखो अब मोहब्बत तो नही हो होगी तुमसे।
हाँ, दिल्लगी करनी हो तो आ जाओ। #NojotoQuote

#Nojoto #nojotohindi #Emotionalhindiquotestatic #2liner #SAD #Love

8 Love
0 Comment
ये कौन  सा  पहली  मर्तबा चला गया 
वक़्त  अच्छा था   या बुरा चला गया 

वो था  कि मुझको छोड़ता चला गया 
मै था कि  उसको पुकारता चला गया 

अब उसको  क्या  बुलाये हम दोबारा 
जो एक मर्तबा  चला गया, चला गया 

अभी तो  यहीं  था  ना  तू  पास मेरे 
पलक  झपकते ही  कहा चला गया 

बात  एक  गलत फेहमी  से शुरू हुई 
फिर तो बस झगड़ा बढ़ता चला गया 




 #NojotoQuote

#shayri
#nojotohindi #Emotionalhindiquotestatic #Love

14 Love
0 Comment
कुछ तो कला के कद्रदान कम हैं।
  आजकल वक्त हमपे मेहरबान कम है॥
                 हैं दर्द बहुत,जख्म गहरे अंधरूनी आँसू बहाये कैसे कोई
                   सतह पर जख्मों के निशान कम हैं॥
   किस्मत, दुआ, खुदा साथ देते कभी
   लोगों पर हमारे अहसान कम हैं।
                 आते हैं लोग बड़ी मिन्नतों व मुश्किलौं से,
        
full poem read in caption    #NojotoQuote

कुछ तो कला के कद्रदान कम हैं।
आजकल वक्त हमपे मेहरबान कम है॥
हैं दर्द बहुत,जख्म गहरे अंधरूनी आँसू बहाये कैसे कोई
सतह पर जख्मों के निशान कम हैं॥
किस्मत, दुआ, खुदा साथ देते कभी
लोगों पर हमारे अहसान कम हैं।
आते हैं लोग बड़ी मिन्नतों व मुश्किलौं से,
कहते हैं घर में मेजबान कम हैं।
उदास हो अलमारी,दर,दीवार,खिड़कियाँ सभी
फुसफुसाते हैं यही घर में आते मेहमान कम हैं।
वो रूठे उखड़े रहते हैं अक्सर ही
हमने उनके इरादे भाँपने की कोशिश की
उन्हौनें सिद्ध किया यही हमको उनकी पहचान कम है।
आराम करते हैं हम थककर जबभी,
बच्चे(शुभ,शौर्य)शोर मचाते हैं तभी
वो कहते हैं यही मम्मी हम शैतान कम हैं।
भाग जाते हैं लोग,हमें दूर से देखकर ही
कहते हैं सभी यही हम कवि ज्यादा इंसान कम हैं।
कितनी ही कविताएँ पोस्ट की whatsapp,g+,fbपर भी
like, commentsनहीं मिले उन पर कई
लिखते हैं सभी हर post पर यही,हमारी कविताओं जान कम है।
कई बार सोच कि हम छोड़ दे सब कुछ,
फिर खुदा से पूछे कि क्या मिला है बहुत कुछ
पर जिन्दगी में यहाँ आराम कम है।
आरजू हमें भी थी,कभी बुलंदियों की, हवायें बोली तभी
हमारे सितारों के लिए आसमान कम हैं।
न जिन्दगी मिली,न मौत आई,तकदीर कैसे बनेगी भाई
खुदा हमसे हैरान कम हैं।
ये लम्बी जिन्दगी कैसे कटेगी "पारुल"
लोग हमसे परेशान कम हैं॥
पारुल शर्मा
#nojotohindi#Nojoto#nojotoquotes#nojotoofficial#TST#kalakash#NojotoWODHindiquotestatic #Emotionalhindiquotestatic Panchdoot #likho_india#panchdoot #panchdoot_social

7 Love
3 Comment
1 Share
जो लोग दूसरों की राहों में रौशनी भर गए
वो लोग खुद अपने सफ़र में तन्हा रह गए

#तन्हा
#ShyamSharma #nojotohindi
#NojotoWODHindiquotestatic #Emotionalhindiquotestatic
#whatsaap #status #Shayari

14 Love
0 Comment
कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती 
अगर होती तो .....
डायरी में ही दफन रहती
और कभी न निकल पाती कवि की दराज़ से।
                      कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती।
कविताएँ मन के भाव होती हैं 
और दिल के भाव तो सिर्फ अपने लिए नहीं होते 
जगते हैं ये अपनों के प्यार से 
                   कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती।
रिश्ते नाते,समाज,प्रकृति,जीव-जन्तु 
पेड़-पौधों,पशु-पक्षी,ईश्वर व ईश्वरीय कृति
कविताएँ उमड़ पड़ती हैं इनकी आहट से
                  कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती।
घटना-दुर्घटना,न्याय-अन्याय,कुरीती-सुरीती
कविताएँ बोल उठी
संतुलन बिगड़ा जब इनके प्रभाव व दुष्प्रभाव से
                  कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती ।
कविताएँ इतनी संकीर्ण कैसे हो सकती है 
कि खुद तक ही सीमित रहे एक कवि तक सीमित
कविताएँ संकीर्ण नहीं होती 
                    कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती ।
पारुल शर्मा
                  #NojotoQuote

कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती
अगर होती तो .....
डायरी में ही दफन रहती
और कभी न निकल पाती कवि की दराज़ से।
कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती।
कविताएँ मन के भाव होती हैं
और दिल के भाव तो सिर्फ अपने लिए नहीं होते
जगते हैं ये अपनों के प्यार से
कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती।
रिश्ते नाते,समाज,प्रकृति,जीव-जन्तु
पेड़-पौधों,पशु-पक्षी,ईश्वर व ईश्वरीय कृति
कविताएँ उमड़ पड़ती हैं इनकी आहट से
कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती।
घटना-दुर्घटना,न्याय-अन्याय,कुरीती-सुरीती
कविताएँ बोल उठी
संतुलन बिगड़ा जब इनके प्रभाव व दुष्प्रभाव से
कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती ।
कविताएँ इतनी संकीर्ण कैसे हो सकती है
कि खुद तक ही सीमित रहे एक कवि तक सीमित
कविताएँ संकीर्ण नहीं होती
कविताएँ व्यक्तिगत नहीं होती ।
पारुल शर्मा
#2liner
#nojotohindi#Nojoto#nojotoquotes#nojotoofficial#TST#kalakash#NojotoWODHindiquotestatic #Emotionalhindiquotestatic Panchdoot #likho_india#panchdoot #panchdoot_social

9 Love
0 Comment