tags

Best ChineseAppsBan Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best ChineseAppsBan Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 1150 Followers
  • 1466 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"इन सब चाइनीज़ ऐप्स का बहिष्कार करें।चाइनीज़ माल की मौहल्ले मौहल्ले में होली जलायें। चाईना में बना हुआ कोई भी माल न खरीदें।केवल भारत में भारतीय कम्पनियों द्वारा ही बनाया हुआ सामान खरीदें।"

इन सब चाइनीज़ ऐप्स का बहिष्कार करें।चाइनीज़ माल की मौहल्ले मौहल्ले में होली जलायें।
चाईना में बना हुआ कोई भी माल न खरीदें।केवल भारत में भारतीय कम्पनियों द्वारा ही बनाया हुआ सामान खरीदें।

#ChineseAppsBan

231 Love
1 Share

""

"दुनिया की कोई भी ताकत भारत को आत्मनिर्भर बनने से रोक नही सकती भारत को आत्मनिर्भर बनाओ स्वदेशी अपनाओ सम्पूर्ण विदेशी व चाइनीज भगाओ"

दुनिया की कोई भी ताकत भारत को आत्मनिर्भर बनने से
 रोक नही सकती  
भारत को आत्मनिर्भर बनाओ
स्वदेशी अपनाओ
 सम्पूर्ण विदेशी व चाइनीज भगाओ

#ChineseAppsBan

227 Love

""

"नही करना चीनी एप का उपयोग ताकि हम अपने देश के लिए कर पायेगे बराबरी का सहयोग"

नही करना चीनी एप का उपयोग 
ताकि हम अपने देश के लिए 
कर पायेगे बराबरी का सहयोग

#ChineseAppsBan

210 Love

""

"भारतीय होने का फ़र्ज़ निभाते है चीन के सभी सामानों का बहिष्कार करते है भारत में भारतीय सामानों का महत्व बढ़ाते है चलो। हमसब मिलकर एक नया भारत बनाते है।। mansisahu"

भारतीय होने का फ़र्ज़ निभाते है
चीन के सभी सामानों का बहिष्कार करते है
भारत में भारतीय सामानों का महत्व बढ़ाते है 
चलो। हमसब मिलकर एक नया भारत बनाते है।।



mansisahu

#ChineseAppsBan

193 Love

""

"🌹🌹 हाँ नारी हूँ मैं त्याग मेरा जीवन संस्कारों से पाया सिर झुका के अत्याचार सहना सीख यही है पाया।4। 🌹🌹 कब छटेगी अंधियारी रात ये कंठ मेरा भर्राया नव प्रभात आये द्वार मेरे भी हिय आस लगाया ।5। 23/05/2020 ©archanatiwari_tanuja"

🌹🌹
हाँ नारी हूँ मैं
त्याग मेरा जीवन
संस्कारों से पाया
सिर झुका के
अत्याचार सहना
सीख यही है पाया।4।
🌹🌹
कब छटेगी
अंधियारी रात ये
कंठ मेरा भर्राया
नव प्रभात
आये द्वार मेरे भी
हिय आस लगाया ।5।

23/05/2020
©archanatiwari_tanuja

#ChineseAppsBan #सदोका
#विभावरी#nojotowriters
#MyThoughts #MyPoetry
01/07/2020

189 Love