tags

Best justiceforasifa Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best justiceforasifa Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 264 Followers
  • 334 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

#shameless_poet #Poetry #Poet #Rape #justicefortwinkle #justice #justiceforasifa #justiceisdead

Read my thoughts on @YourQuoteApp #yourquote #Quote #Stories #qotd #Quoteoftheday #wordporn #Quotestagram #wordswag #wordsofwisdom #inspirationalquotes #writeaway #Thoughts #Poetry #instawriters #writersofinstagram #writersofig #writersofindia #igwriters #igwritersclub

15 Love

"अस्पताल में उस सैया रूपी बिस्तर पर पड़ी उस बिटिया ने आज खाना मांगा है | बेशक दरिंदगी का शिकार हुई है वो पर ज़िन्दगी उसे भी प्यारी है | उम्मीद है कि वो भी उजड़ी हुई आस के सहारे खौफ में ही सही पर जियेगी जरूर क्यूँकि बलात्कार जारी है... #mandsaur #rape #manoguru #unstoppable"

अस्पताल में उस सैया रूपी बिस्तर पर पड़ी उस बिटिया ने आज खाना मांगा है |
बेशक दरिंदगी का शिकार हुई है वो पर ज़िन्दगी उसे भी प्यारी है |
उम्मीद है कि वो भी उजड़ी हुई आस के सहारे खौफ में ही सही पर जियेगी जरूर क्यूँकि बलात्कार जारी है...

#mandsaur
#rape
#manoguru
#unstoppable

#Rape #rapist #justiceforasifa #justice #nojotopoetry #nojotosocial #nojotonews #NojotoFamily #nojotian #Rapevictim #killthem #दरिंदगी #हैवानियत #न्याय #Judgement #story

20 Love

" Justice for Women "

 Justice for
 Women

#Nojoto #story #justiceforwomen #justiceforasifa #kavishala #Nojotoenglish

Now-a-days,everyone is talking about this tragic incident. Many types of Marches are on the way. Many types of discussions are going on without any purpose. So difficult ! Everyone is wanting justice for Asifa but I have a problem, I also want justice but not like this even on this place I want justice for women. It may possible that after justice on Asifa this type of incident will not end,it will be continuing.
So, the GOI must be take a good and hard decision in the favour of womem.

21 Love

#justiceforasifa #justiceforeveryone #Nojoto #Quotes #FridayFeeling

14 Love

कविता शीर्षक -न्याय पर प्रश्नचिह्न
मेरे अन्दर की लेखिका,

मुझे जला रही है।

कई बार बैठे हुए ,सोते हुए

यूँ लगता है

जैसे फिर कोई दामिनी,

मुझे पुकार रही है।

कहने को कुछ ,

कलम विवश हो जैसे ।

शब्द स्तब्ध है ,

सहमे हुए है ऐसे।

कागज भी शर्मिंदा है ,

स्वयं पर आवरण ओढ़कर ।

न्याय क्यों मौन है अब भी,

पापियों का नंगापन देखकर।

कृत्य घिनौने करते समय,

क्यों अधर्मी ईश्वर से नहीं डरते।

आत्मा को कलंकित करते समय,

मंदिर परिसर को भी नहीं छोङ़ते।

राजनीति के नाम पर न जाने कितनी असीफा की,

हर दिन बलि चढ़ती रहेगी ।

कब तक समाज तमाशा देखेगा,

कब तक अदालत बलात्कारियों को बरी करती रहेगी।

देश में हमारे न्याय पर ही ,

बङ़ा प्रश्नचिन्ह लगा हुआ है ।

क्यों कह रही हूं ऐसा?

क्योंकि बेटी के लिए आवाज उठाने वाले पिता का थाने में कत्ल हुआ है।

कवियित्री -आस्था गंगवार

#justiceforasifa #socialpoem #Poetry #HindiPoem #aasthagangwar #justice

14 Love