Nojoto: Largest Storytelling Platform

Best sumitupadhyay Shayari, Status, Quotes, Stories

Find the Best sumitupadhyay Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about i love you sumit, sum 1+2a+3a^(2)+4a^(3)+... to n terms, yaar ki shaadi sumit goswami, sumit chaudhary ki ragni, divakaran deposited a sum of,

  • 3 Followers
  • 9 Stories
    PopularLatestVideo

Bharat Bhushan pathak

उदासी घेरती काया,विकल होते ,गए नैना।
पता चलता,नहीं मुझको,दिवस है या,अभी रैना।
तुम्हारे बिन,कई बीते,यहाँ पे जी,सुनो सावन-
लगे ना प्यास है मुझको,कहीं आए,नहीं चैना।

©Bharat Bhushan pathak #Problems #lovesad #lovesab#nojotohindi#nojotopoetry#nojotohindi2020#nisheetpandey#sumitupadhyay#प्रेम_के_साईड- इफेक्ट्स#ripudamanjhapinaki

Bharat Bhushan pathak

आज बर्बरता की,नारी पर अत्याचार की एक तस्वीर समक्ष आई,उस पर कुछ भाव रखकर पुरुषार्थ को ललकारना चाहुँगा:- क्या मानव तू है मृतक हुआ,शेष नहीं तुझमें पुरुषार्थ। ओ माटी के पुतले सुन तू, सोचे क्यों तू केवल स्वार्थ।। लील रहा जब दानव बेटी, देखे भला क्यों मौन हुआ। अपना कोई पीड़ित ना था,अरे इस कारण गौण हुआ।। अजी वह बस संख्या में एक ,वहाँ पर तुम तो दर्जन थे। नहीं कम शक्ति अच्छाई में, माना अगर वो दुर्जन थे।। अगर साहस से बस हुँकारा,मुँह को कलेजे आ जाते। #कविता #nojotopoetry #nojotohindi #nojotoquotes #raiseyourvoice #nojotoapp #sumitupadhyay #nojotountold #brutalityindelhi #giridihincident

read more
आज बर्बरता की,नारी पर अत्याचार की एक तस्वीर समक्ष आई,उस पर कुछ भाव रखकर पुरुषार्थ को ललकारना चाहुँगा:-
क्या मानव तू है मृतक हुआ,शेष नहीं तुझमें पुरुषार्थ।
ओ माटी के पुतले  सुन तू, सोचे क्यों तू केवल स्वार्थ।।
लील रहा जब दानव बेटी, देखे भला क्यों मौन हुआ।
 अपना कोई पीड़ित ना था,अरे इस कारण गौण हुआ।।
अजी वह बस संख्या में एक ,वहाँ पर तुम तो  दर्जन थे।
नहीं कम शक्ति अच्छाई में, माना अगर वो दुर्जन थे।।
अगर साहस से बस  हुँकारा,मुँह को कलेजे आ जाते।
भय तुम्हें न ही करना था,सुनो वो उलटे भय खाते।।

©Bharat Bhushan pathak आज बर्बरता की,नारी पर अत्याचार की एक तस्वीर समक्ष आई,उस पर कुछ भाव रखकर पुरुषार्थ को ललकारना चाहुँगा:-
क्या मानव तू है मृतक हुआ,शेष नहीं तुझमें पुरुषार्थ।
ओ माटी के पुतले  सुन तू, सोचे क्यों तू केवल स्वार्थ।।
लील रहा जब दानव बेटी, देखे भला क्यों मौन हुआ।
 अपना कोई पीड़ित ना था,अरे इस कारण गौण हुआ।।
अजी वह बस संख्या में एक ,वहाँ पर तुम तो  दर्जन थे।
नहीं कम शक्ति अच्छाई में, माना अगर वो दुर्जन थे।।
अगर साहस से बस  हुँकारा,मुँह को कलेजे आ जाते।

Bharat Bhushan pathak

आज बर्बरता की,नारी पर अत्याचार की एक तस्वीर समक्ष आई,उस पर कुछ भाव रखकर पुरुषार्थ को ललकारना चाहुँगा:- क्या मानव तू है मृतक हुआ,शेष नहीं तुझमें पुरुषार्थ। ओ माटी के पुतले सुन तू, सोचे क्यों तू केवल स्वार्थ।। लील रहा जब दानव बेटी, देखे भला क्यों मौन हुआ। अपना कोई पीड़ित ना था,अरे इस कारण गौण हुआ।। अजी वह बस संख्या में एक ,वहाँ पर तुम तो दर्जन थे। नहीं कम शक्ति अच्छाई में, माना अगर वो दुर्जन थे।। अगर साहस से बस हुँकारा,मुँह को कलेजे आ जाते। #कविता #nojotopoetry #nojotohindi #nojotoquotes #raiseyourvoice #nojotoapp #sumitupadhyay #nojotountold #brutalityindelhi #giridihincident

read more
आज बर्बरता की,नारी पर अत्याचार की एक तस्वीर समक्ष आई,उस पर कुछ भाव रखकर पुरुषार्थ को ललकारना चाहुँगा:-
क्या मानव तू है मृतक हुआ,शेष नहीं तुझमें पुरुषार्थ।
ओ माटी के पुतले  सुन तू, सोचे क्यों तू केवल स्वार्थ।।
लील रहा जब दानव बेटी, देखे भला क्यों मौन हुआ।
 अपना कोई पीड़ित ना था,अरे इस कारण गौण हुआ।।
अजी वह बस संख्या में एक ,वहाँ पर तुम तो  दर्जन थे।
नहीं कम शक्ति अच्छाई में, माना अगर वो दुर्जन थे।।
अगर साहस से बस  हुँकारा,मुँह को कलेजे आ जाते।
भय तुम्हें न ही करना था,सुनो वो उलटे भय खाते।।

©Bharat Bhushan pathak आज बर्बरता की,नारी पर अत्याचार की एक तस्वीर समक्ष आई,उस पर कुछ भाव रखकर पुरुषार्थ को ललकारना चाहुँगा:-
क्या मानव तू है मृतक हुआ,शेष नहीं तुझमें पुरुषार्थ।
ओ माटी के पुतले  सुन तू, सोचे क्यों तू केवल स्वार्थ।।
लील रहा जब दानव बेटी, देखे भला क्यों मौन हुआ।
 अपना कोई पीड़ित ना था,अरे इस कारण गौण हुआ।।
अजी वह बस संख्या में एक ,वहाँ पर तुम तो  दर्जन थे।
नहीं कम शक्ति अच्छाई में, माना अगर वो दुर्जन थे।।
अगर साहस से बस  हुँकारा,मुँह को कलेजे आ जाते।

sûmìt upãdhyåy(løvë flūtê)

dhan se beshak gareeb raho dil se rahna dhanwaan ✍️✍️✍️ #sumitupadhyay#Shayari#SAD #nojotoshayari #nojotohindi #HeartfeltMessage

read more
mute video

sûmìt upãdhyåy(løvë flūtê)

जिंदगी हमे जीकर चलती बनी #शायरी #कटुसत्य #वचन #Motivation #अनुभव #sumit #Upadhyay#sumitupadhyay

read more
जिस्म ख्वाहिशों में अटका रहा
जिंदगी हमे जीकर चलती बनी

©Sùmìt Upadhyay जिंदगी हमे जीकर चलती बनी
#शायरी #कटुसत्य #वचन #Motivation #अनुभव #sumit #upadhyay#sumitupadhyay

Sumit Upadhyay

#syria #SyriaAttack #HUmanity #Pain #sumitupadhyay छोटे छोटे बच्चे मर रहे हैं केमिकल हमले के बाद बीमारी से जूझ रहे है।दवा नही है खाना नही है। अरे हरामियों कब्रिस्तान में हुकूमत करके क्या करोगे। हैवान भी शर्मा रहा होगा तुझपर साले सुअर । सीरिया में वहां की सरकार ने मासूमो पर जो जुल्मो सितम ढाये है अभी देखा । सीना छलनी हो गया। कलम के सभी हुनरमंदों से गुजारिश है कि जहाँ भी हो आप इस हरामखोरी और वहशीपन के खिलाफ आवाज़ बुलंद करिये। बन्द करिये लिखना प्यार मोहब्बत पर। इंसानियत के दर्द को समझिये और इंसान

read more
#syria #syriaattack #humanity #pain #sumitupadhyay
छोटे छोटे बच्चे मर रहे हैं केमिकल हमले के बाद बीमारी से जूझ रहे है।दवा नही है खाना नही है। अरे हरामियों कब्रिस्तान में हुकूमत करके क्या करोगे। हैवान भी शर्मा रहा होगा तुझपर साले सुअर । सीरिया में वहां की सरकार ने मासूमो पर जो जुल्मो सितम ढाये है अभी देखा । सीना छलनी हो गया। 
कलम के सभी हुनरमंदों से गुजारिश है कि जहाँ भी हो आप इस हरामखोरी और वहशीपन के खिलाफ आवाज़ बुलंद करिये। 
बन्द करिये लिखना प्यार मोहब्बत पर। इंसानियत के दर्द को समझिये और इंसान
loader
Home
Explore
Events
Notification
Profile