aamil Qureshi

aamil Qureshi Lives in Rudrapur, Uttarakhand, India

bahoot choota sa kirdaar h meraa bsss jo dekhta h bss muskura deta h . aamil 9837924887aamilqureshi0786@gmail.com .

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"मेरे हाथ में तेरा हाथ हो, मेरे हाथ में तेरा हाथ हो,तो मुकम्मल हो सफर जिंदगी का जो ताउम्र तेरा साथ हो,गुजरेगा हर लम्हा बेहतर जिंदगी का आमिल"

मेरे हाथ में तेरा हाथ हो, मेरे हाथ में तेरा हाथ हो,तो मुकम्मल हो सफर जिंदगी का 
जो ताउम्र तेरा साथ हो,गुजरेगा हर लम्हा बेहतर जिंदगी का



आमिल

#Love @Shalu Kumari @Santosh Kumar Sharma @Sangita Shaw @Amaan😊Azmi @Kanubhai Dalwadi

217 Love

"प्यार से मिलाने का वादा है दोस्ती प्यार से कुछ हद में ज्यादा है दोस्ती प्यार चन्द कदम जाकर ठहराव ढूढंता है ताउम्र साथ निभाने का ईरादा है दोस्ती आमिल"

प्यार  से  मिलाने का  वादा है दोस्ती
  प्यार से कुछ हद में ज्यादा है दोस्ती 

प्यार चन्द कदम जाकर ठहराव ढूढंता है
ताउम्र  साथ निभाने का  ईरादा है दोस्ती 


आमिल

@Naina Raj @विभूति गोण्डवी @OM BHAKAT "MOHAN,(कलम मेवाड़ की) @Sambhav jain(महफूज़_जनाब) @Ritu shrivas #Love #Friendship

205 Love
2 Share

"वक्त ए फुर्सत गर मिल जाए तो लौट कर तेरे सिरहाने आ जाता फिर तेरी चारपाई के पैताने बैठ घंटों तेरे पेर दबाता वो वक्त ए आखिर था तेरा, पापा, दिल मानता नही मेरे तेरे करीब होने से शायद तू कुछ दिन और ठहर जाता आमिल"

वक्त ए फुर्सत 

गर मिल जाए तो लौट कर तेरे  सिरहाने आ जाता 

फिर तेरी चारपाई के पैताने बैठ घंटों तेरे पेर दबाता 

वो वक्त ए आखिर था तेरा, पापा, दिल मानता नही

मेरे तेरे करीब होने से शायद तू कुछ दिन और ठहर जाता 




आमिल

#अतीत मे वापसी @Laxmi Rao @Pooja @Priya @Monika Sambhav jain(महफूज़_जनाब)

193 Love
1 Share

"एहसान ए हसीं एहसान कुछ हम पर भी फरमा दीजिए बहुत हसरत से देखते हैं बस मुस्कुरा दीजिए शुक्र उस खुदा का करते हुये उम्र गुजार देंगे अल्फ़ाज़ मेरे बस होठों से छुआ दीजिए आमिल"

एहसान  ए हसीं एहसान कुछ हम पर भी फरमा दीजिए
बहुत हसरत से देखते हैं बस मुस्कुरा दीजिए 

शुक्र उस खुदा का करते हुये उम्र गुजार देंगे
अल्फ़ाज़ मेरे बस होठों से छुआ दीजिए 

आमिल

#एहसान @विभूति गोण्डवी @Aditya Narayan Singh @Sambhav jain(महफूज़_जनाब) @Vivek Deshmukh @Arzooo 😍😍

189 Love

"अफ़सोस क्यूं अफसोस मुझे हो,तेरा मुझको छोड़ कर जाने का मै करता हूँ तेरा शुक्रिया इतने दिन साथ निभाने का क्यूं सोच सोच कर पागल हो जाऊं हर लम्हा तेरे बारे में ये तो दस्तूर है दुनिया का पुराना हटा कर कुछ नया बनाने का मैं करता हूँ तेरा शुक्रिया इतने दिन साथ निभाने का आमिल"

अफ़सोस क्यूं अफसोस मुझे हो,तेरा मुझको छोड़ कर जाने का 
मै करता हूँ तेरा शुक्रिया इतने दिन साथ निभाने का 

क्यूं सोच सोच कर पागल हो जाऊं हर लम्हा तेरे बारे में
ये तो दस्तूर है दुनिया का पुराना हटा कर कुछ नया बनाने का


मैं करता हूँ तेरा शुक्रिया इतने दिन साथ निभाने का

आमिल

#अफ़सोस @Deepika Dubey @Namita Writer @Sahiba Sridhar @Navneet Sarada @Eshaan Avasthi @Lipika Jain

170 Love