Nojoto: Largest Storytelling Platform

Best WalkingInWoods Shayari, Status, Quotes, Stories

Find the Best WalkingInWoods Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about love unlimited walking in the rain, sensually walking to the thermostat, like walking in the rain and wishing on a star, like walking in the rain and wishing on the stars up above lyrics, i love walking in the rain,

  • 3476 Followers
  • 3964 Stories
    PopularLatestVideo

gopi kiran

#WalkingInWoods

read more
mute video

Richa Dhar

#WalkingInWoods सपने #शायरी

read more
🌹(समर्पित)🌹

देखा है मैंने अपनों के सपनों को जलते हुए
देखा है अपनों को तिल तिल मरते हुए 
अब क्यूँ करूँ विश्वास उनकी झूठी मुस्कान पे
देखा है मैंने उन्हें खून के घूंट पीते हुए---

देखा है मैंने उन्हें छुप छुप के रोते हुए 
देखा है मैंने उनको जीवन के रंगमंच पर पीड़ा को सहते हुए
और क्या अपेक्षा करूं अपने भाग्य विधाता से
देखा मैंने उन्हेंअपने इष्ट से याचना कर रोते हुए---

देखा है मैंने उन्हें बंद कमरों में अँधेरो से लड़ते हुए
देखा है उन्हें बिलख बिलख कर रोते हुए
हृदय भी काँप उठता है अब उनकी झूठी मुस्कान पे
देखा है मैंने उन्हें टूट कर बिखरते हुए---

©Richa Dhar #WalkingInWoods सपने

कृतान्त अनन्त नीरज...

#WalkingInWoods lovenojoto #शायरी

read more
mute video

Priya's poetry life

mute video

priya300717

#WalkingInWoods

read more
mute video

BROKENBOY

#WalkingInWoods मेरे जिस्म से मेरी रूह निकाल दी उसने मुझे उदास रहने की आदत डाल दी उसने किसी ने उससे पूछा कि चाहत क्या है पहले तो बहुत रोया फिर मेरी मिसाल दी उसने

read more
मेरे जिस्म से मेरी रूह निकाल दी उसने
मुझे उदास रहने की आदत डाल दी उसने

किसी ने उससे पूछा कि चाहत क्या है
पहले तो बहुत रोया फिर मेरी मिसाल दी उसने

©BROKENBOY #WalkingInWoods 
मेरे जिस्म से मेरी रूह निकाल दी उसने
मुझे उदास रहने की आदत डाल दी उसने

किसी ने उससे पूछा कि चाहत क्या है
पहले तो बहुत रोया फिर मेरी मिसाल दी उसने

कृतान्त अनन्त नीरज...

mute video

Richa Dhar

#WalkingInWoods समर्पण #कविता

read more
(समर्पण)✍️✍️✍️


मैं नहीं चाहती थी संसारी होकर जीना 
मैं नहीं चाहती थी किसी पे भी मरना 
मेरा आत्मसुख मेरा समर्पण कहीं और होना था 
मुझे संसार में लिप्त नहीं होना था 
मुझे चाहिए था ईश्वर तत्व का उजाला 
मगर इस जगत का नियम था निराला 
मन आज भी विचरण कर रहा है 
अध्यात्म की ओर जा रहा है 
मगर मैं ये कैसे जाल में फंस गई 
मेरे जीवन की नांव न जाने किस भंवर में फस गयी 
मुझसे क्यों नहीं हो पाया जीवन में ये अर्पण 
आत्मसमर्पण कर क्यों नहीं कर में खुद का (समर्पण)...

©Richa Dhar #WalkingInWoods समर्पण

Richa Dhar

#WalkingInWoods समर्पण #कविता

read more
mute video

Richa Dhar

#WalkingInWoods गम और खुशी #कविता

read more
💐गम और खुशी💐

इसमें इतना गमगीं होने की क्या बात है
गम और खुशी तो दुनिया भर के साथ है

रोज किसके साथ रहता है उजाला 
चल नहीं पाता अधिक अतीत काला

चन्द सांसे माटी को मिली यही क्या कम मिला
यह तो है अवसर की बात किसी को खुशी तो किसी को गम मिला

तुम तो हो इन्सान जो कह लेते हो दुःख दर्द को 
चांद कहाँ तक रोए जिसके आगे पीछे रात है

सूरज रोता अगर कि जैसी मिली बेचारे को जलन 
कब का डूब गया होता अब तक तारों वाला गगन

लेकिन साहस तो देखो उस चलती फिरती आग का
जहां पांव रख देता पांव मुस्कुराता वहीं प्रभात है,

तुम शायद विश्वास करोगे नहीं कि इस संसार में
छुई मुई के पातों तक पर पतझर का आघात है

फिर कैसी ये व्यर्थ की निराशा और कैसा ये विषाद है 
चाहिये थोड़ा परिवर्तन फिर देखो जीवन में कितना अनुराग है।

©Richa Dhar #WalkingInWoods गम और खुशी
loader
Home
Explore
Events
Notification
Profile