tags

Best RESPECTWOMEN Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

81 Stories- Find the Best RESPECTWOMEN Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 75 Followers
  • 81 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

इज्जत करो उस शक्ति की जो दुनिया चलाती है, देकर जन्‍म तुम्हें इस दुनिया में ले आती है।
Follow me on Instagram ig - the_unheard_story for more such videos and quotes
#nojotovideo #nojoto
#ishq #Love #unerasepoetry #buttonpoetry #socialhouse #Shayar #Poetry #Poetrycommunity #Poetrygram #RESPECT #RESPECTwomen #Women

14 Love
62 Views

""be my Man" " doing jst a single work in a whole day & showing an egoistic atitude to your "Lady"........ ......is the most illetrate thing, many "Man" do now days...... the diseases is getting older & older day by day, but not reaching to an END.""

"be my Man"

" doing jst a single work in a whole day & showing
an egoistic atitude to your "Lady"........

......is the most illetrate thing,
many "Man" do now days......

the diseases is getting older & older day by day,
but not reaching to an END."

#RESPECTWOMEN #bemymen #selfish #Egoistic #notrealman

22 Love

"#OpenPoetry #Request to All People Please Respect To All Women# में नारी हूँ गर्व करूँ, या खुद ही से डर जाऊँ में। डर के साये में मैं जीती,क्या खुद ही मर जाऊँ में।। बेटी हो जाए जो घर में, उसे बोझ समझ के पाला हैं। खुशियाँ जब आती घर में, हो जाए एक लाला हैं।। क्या किस्मत पाई है नारी,बचपन से ही हीन हुई। देख के ऐसा भेदभाव, क्या खुद ही मर जाऊँ में।। बड़ी हुई जब मान व,मर्यादा का बोझ उसे डाला। इस दुनियाँ ने उसको,ये धन है पराया कह डाला। क्या क्या सहती रहती है,फिर भी चुप रहती नारी।। दुनियाँ के ताने हस लूँ, क्या खुद ही मर जाऊँ में।। चार साल की हो या,कितने ही सालो की नारी। लूट लिया जाता है दामन,हो जाती है बेचारी।। लूटते है बेदाग है वो,बस नारी होती है दागी। इस दूषित माहौल में जिंदा,क्या खुद ही मर जाऊँ में।। शादी की वारी आई, दहेजो का व्यापार चला। क्यों बनकर आई लड़की,पल-पल मुझकों सबने छला।। ईश्वर ने भी मुझकों छलके,विदा की रश्म बनाई है। जन्म जहाँ उससे ही विदाई,क्या खुद ही मर जाऊँ में।।"

#OpenPoetry #Request to All People Please Respect To All Women#
में नारी हूँ गर्व करूँ, या खुद ही से डर जाऊँ में।
 डर के साये में मैं जीती,क्या खुद ही मर जाऊँ में।।
 बेटी हो जाए जो घर में, उसे बोझ समझ के पाला हैं।
 खुशियाँ जब आती घर में, हो जाए एक लाला हैं।।
 क्या किस्मत पाई है नारी,बचपन से ही हीन हुई।
 देख के ऐसा भेदभाव, क्या खुद ही मर जाऊँ में।।
 बड़ी हुई जब मान व,मर्यादा का बोझ उसे डाला।
 इस दुनियाँ ने उसको,ये धन है पराया कह डाला।
 क्या क्या सहती रहती है,फिर भी चुप रहती नारी।।
 दुनियाँ के ताने हस लूँ, क्या खुद ही मर जाऊँ में।।
 चार साल की हो या,कितने ही सालो की नारी।
 लूट लिया जाता है दामन,हो जाती है बेचारी।। 
लूटते है बेदाग है वो,बस नारी होती है दागी।
 इस दूषित माहौल में जिंदा,क्या खुद ही मर जाऊँ में।।
 शादी की वारी आई, दहेजो का व्यापार चला।
 क्यों बनकर आई लड़की,पल-पल मुझकों सबने छला।।
 ईश्वर ने भी मुझकों छलके,विदा की रश्म बनाई है। 
जन्म जहाँ उससे ही विदाई,क्या खुद ही मर जाऊँ में।।

#OpenPoetry #RESPECTWOMEN

44 Love
1 Share

#RESPECTWOMEN#Nojotovoice#nojotohindi#Shayari

32 Love
42 Views

"शहर की लड़की शहर की लड़की बोल कर यूँ ना उसे परेशान करो, हदें होती है हर किसी के लिए उनसे थोड़ा सा डरों, वो जो चुप बैठी है सब सुनकर उसकी थोड़ी तो शर्म करो, नारी है शक्ति है जिस भी रूप में उसका हमेशा सम्मान करो ॥"

शहर की लड़की शहर की लड़की बोल कर यूँ ना उसे परेशान करो,
हदें होती है हर किसी के लिए उनसे थोड़ा सा डरों,
वो जो चुप बैठी है सब सुनकर उसकी थोड़ी तो शर्म करो,
नारी है शक्ति है जिस भी रूप में उसका हमेशा सम्मान करो ॥

#ShaharKiLadki #post96 #RESPECTWOMEN

22 Love