Best Manaswin_Manu Stories

  • 1 Followers
  • 67 Stories

Suggested Stories

Best Manaswin_Manu Stories, Status, Quotes, Shayari, Poem, Videos on Nojoto. Also Read about Manaswin_Manu Quotes, Manaswin_Manu Shayari, Manaswin_Manu Videos, Manaswin_Manu Poem and Manaswin_Manu WhatsApp Status in English, Hindi, Urdu, Marathi, Gujarati, Punjabi, Bangla, Odia and other languages on Nojoto.

  • Latest Stories
  • Popular Stories
सितारों सी चमक, दो आँखों मे
गालों पे बर्फ सी फिसलन है
खुद के प्रश्नों में उलझी सी
वो खुद में पूरा दर्शन है

होंठों पर प्यारी बातें हैं
उससे भी प्यारा उसका मन है
हसती-रोती, खुद में खोती
वो खिलता सा एक जीवन है

बालों में रात समेटे वो
वो रात-रात भर जगती है
वो खुद में चाँद सी शीतल है
भर रात चाँद को तकती है

©Manaswin_Manu

#nojotohindi
#dedicated
#She
#mylove
#Beautiful
#Tranquil
#nights
#Stars
#Moon
#Manaswin_Manu

4 Love
0 Comment
वो कैसा स्वप्न था न जाने
जो नींद को मेरे जला गया
वो किसकी प्यास थी न जाने
किस अभिलाषा में छला गया

मैं जबसे तुमसे दूर हुआ
भोलापन मेरा चला गया

©Manaswin_Manu

#nojotohindi
#Dream
#sleep
#burnt
#Thirst
#Hope
#betrayed
#Separated
#innocence
#Vanished
#Love
#Manaswin_Manu

10 Love
0 Comment
सोये रहना कहीं मौत से पहले मार न जाये
भारत रिक्त भारत अपने घर मे हार न जाये

©Manaswin_Manu

#nojotohindi
#bharat
#India
#Hind
#Manaswin_Manu

6 Love
0 Comment
है अधूरा सा जीवन, अंत भी दूर है
मुस्कुराने को हम, फिर भी मजबूर हैं

मन मेरा चाहता, सिर्फ वनवास है
मेरी तृष्णा का हल, नदियों के पास है
मोह के सारे बंधन, हैं मनोहर बहुत
मेरा चैन पर, पूर्ण सन्यास है
**
पर न अपनो को मेरे, ये एहसास है
अर्थ, पद और सुरक्षा ही, उन्हें खास है 

सांस में है पहाड़ों की ठंडी हवा
मन में मेरे, मैं नदियों की कल-कल भी हूँ
**
पर पराये से स्वप्नों में घुटता हुआ
एक पुराना सा, मुर्दा सा दलदल भी हूँ

#nojotohindi
#bechaini
#Sanyaas
#Moh
#daldal
#parvat
#nadi
#me
#Free
#Manaswin_Manu

5 Love
0 Comment
©Manaswin Manu

#nojotohindi
#Ganga
#Manaswin_Manu

मेरी नसों में, गंगाजल बहता है

हाँ-हाँ जानता हूँ, विज्ञान नही मानेगा
मुझे बड़बोला या पागल ही जानेगा

काटी जाएं नसें
तो लाल सा कुछ बहेगा
ज़माना जिसे लहू कहेगा

सूरज की लाल किरनें
हवा में घुल, जब मुझमें से गुजरती हैं
तो उनके स्पर्श से
नसों में बहता गंगाजल, लाल हो जाता है

मैं साबित नही कर सकता
पर दिखा सकता हूँ
देखना कभी
मुझे नदी में
उतरते, तैरते, कूदते

पहले देखना नदी को
और फिर
सीधे मेरी आँखों मे
एक सी लहरें
कभी शांत, कभी शोर मचाती
कभी हल्के-हल्के गुनगुनाती

तुम सब समझ जाओगे
कोई द्वैत नही पाओगे
ये एहसास है
जो मेरे सबसे पास है
जो हरदम मुझमें रहता है
कि मेरी नसों में
गंगाजल बहता है

मेरी नसों में, गंगाजल बहता है

©Manaswin Manu

8 Love
0 Comment